नई दिल्ली: चीन से जिस को’रोना वायरस की शुरुआत हुई थी उसका प्र’कोप अभी खत्म नही हुआ। लेकिन इसी बीच एक र’हस्यमयी बीमारी से पूरी दुनिया में द’हशत फैल गई है. इस रहस्मयी बीमारी का नाम “मैड काउ डिजीज” है और कनाडा में अब तक 40 से ज्यादा लोग इस बीमारी की गि’रफ्त में आ चुके हैं. तो वहीं अब तक 5 लोगों की मौ’त भी हो गई है.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक फिलहाल डॉक्टर इस बीमारी को मस्तिष्क वि’कार से जोड़कर देख रहे हैं. जिसे “क्रुट्जफेल्ट-जैकोब डिजीज” के नाम से जाना जाता है. कनाडा के कई एक्सपर्ट इसे मैड काउ डिजीज का भी नाम दे रहे हैं. कहा जा रहा है कि इस बीमारी का सबसे पहला मा’मला 2015 में आया था. 2020 में इस बीमारी से 24 लोग सं’क्रमित हुए थे. अब साल 2021 में भी मामले लगातार बढ़ रहे हैं.

कनाडा के बर्टरेंड शहर के मेयर वोन गोडिन ने इस बीमारी के बारे में कहा कि कोरोना के बाद से ही लोग इस तरह की बीमारियों को लेकर ज़्यादा प’रेशान है. शुरुआती रिपोर्ट के मुताबिक बीमारी से पी’ड़ित व्यक्ति चीजें भूलने लगता है, अचानक भ्रम की स्थिति में चला जाता है. न्यूरोलॉजिस्ट डॉक्टर एलायर मार्रेनो ने कहा ‘हमारे पास ऐसे सबूत नहीं हैं जो ये साबित कर सकें कि ये असामान्य प्रोटीन से होने वाली बीमारी है.’

इस बीमारी के ल’क्षणों में दर्द, ऐंठन, शामिल है. कहा जाता है कि 18 से 36 महीने के भीतर मरीजों को ऐसे कामों को करने में दिक्कत आने लगती है जिनमें काफी दिमाग लगाना पड़ता है. इसके अलावा उन्हें मांसपेशियों में कमी और दांत से संबंधित दिक्कतें भी होने लगती है. बता दें कि मैड काउ डिजीज गाय और गाय से जुड़े पशुओं में होने वाला एक रोग है. इस रहस्यमयी बीमारी की पहचान पहली बार 1986 में ब्रिटेन में हुई थी.

By Arghwan Rabbhi

Arghwan Rabbhi is a researcher and journalist.

Leave a Reply

Your email address will not be published.