नई दिल्ली: उत्तर भारत के बेहद अहम राज्य उत्तराखंड में सियासी घटनाक्रम तेज़ी से बदल रहे हैं. ख़बर है कि राज्य के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत इस्तीफा दे सकते हैं. जानकारी के अनुसार, उन्होंने राज्यपाल से मुलाकात के लिए समय मांगा है. ऐसी चर्चाएं है कि वे सीएम पद से इस्तीफा देंगे. गौरतलब है कि दिल्ली में डेरा जमाए बैठे उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत के इस्तीफे की अटकलें उस समय जोर पकड़ने लगी थी जब उन्होंने शुक्रवार को बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा के घर जाकर मुलाक़ात की थी. बीते तीन दिनों में दोनों नेताओं की यह दूसरी मुलाक़ात है, इस मुलाकात के बाद यह चर्चाएं उठने लगी थीं कि कहीं ये उत्तराखंड में फिर से सत्ता परिवर्तन की आहट तो नहीं है?

तीरथ सिंह तीन दिन से दिल्ली में हैं. हालांकि जिस दिन वह आए उसी रात केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से उनकी मुलाक़ात हो गई थी और अगले दिन उन्हें देहरादून वापस जाना था.लेकिन अचानक वापसी का कार्यक्रम टल गया जिसके बाद से उनको बदले जाने की चर्चाओं ने तेजी पकड़ ली थी.

गौरतलब है कि रावत ने इसी साल मार्च में उत्तराखंड का मुख्यमंत्री पद संभाला था. तीरथ सिंह को सीएम पद से इसलिए हटना पड़ रहा है क्यूँकि मुख्यमंत्री की कुर्सी संभालने के छह महीने के अंदर यानी 10 सितंबर तक उनका विधायक बनना ज़रूरी है. उत्तराखंड की दो सीटों पर उपचुनाव भी होने हैं लेकिन कोरोना महामारी को लेकर फ़िलहाल उपचुनाव पर चुनाव आयोग की रोक है. ऐसे में यह उपचुनाव को लेकर स्थिति स्पष्ट नहीं है.

बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात के बाद उत्तराखंड में उपचुनाव को लेकर सवाल पर तीरथ सिंह रावत ने कहा था कि उप चुनाव का विषय चुनाव आयोग का है. चुनाव आयोग जब भी निर्णय लेगा, उपचुनाव होंगे. चुनाव आयोग जो भी फैसला करेगा, वह स्वीकार होगा.

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *