चिदम्बरम ने भाजपा अध्यक्ष पर किया पलटवार, “सोनिया गांधी को पत्र लिखने की बजाय..”

नई दिल्ली एक तरफ़ देश में कोरोना लहर तेज़ी से अपना क़हर बरपा रही है तो दूसरी केंद्र सरकार पर ये आरोप लग रहा है कि उसने दूसरी लहर को लेकर कोई भी योजना नहीं बनाई थी. विपक्ष सरकार को घेर रहा है और कह रहा है कि सरकार अभी भी सही से काम नहीं कर रही है. इस बीच बजाय ग़लतियों को सुधारने के सत्ताधारी भाजपा अभी भी पर्दा लगाने में लगी है.

ख़बर है कि भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी को एक पत्र लिखा है। चार पन्नों के इस शिकायती पत्र में बीजेपी नेता ने कांग्रेस पर नकारात्मक राजनीति करने के अनेक आरोप लगाए हैं। नड्डा के इस पत्र पर देश के पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने करारा पलटवार किया है। चिदंबरम ने इस पत्र को आधारहीन करार देते हुए नड्डा को सुझाव दिया है कि वे न्यूयॉर्क टाइम्स का कॉलम पढ़ें।
P CHIDAMBARAM
पी चिदंबरम ने ट्वीट किया,”कांग्रेस अध्यक्ष को एक आधारहीन पत्र लिखने की बजाय, भाजपा अध्यक्ष श्री नड्डा 6 मई, 2021 का न्यूयॉर्क टाइम्स का अतिथि कॉलम पढ़ सकते हैं। लेखक कांग्रेस के सदस्य नहीं हैं। उनके नाम श्री नड्डा को याद होंगे: डॉ. अभिजीत बनर्जी और डॉ. एस्थर डुफ्लो, नोबेल पुरस्कार विजेता।”

इस कॉलम में अभिजीत बनर्जी और एस्थर डुफ्लो ने लिखा है कि क्यों भारत की समस्या अकेले भारत की नहीं है- बल्कि दुनिया को इस पर चिंता करने की जरूरत है। उन्होंने यह भी लिखा है कि कैसे भारत सरकार ने पहली बार चार घंटे की नोटिस पर और इस बार लंबी लापरवाही के बाद लॉकडाउन लगाया। कोरोना की दूसरी लहर में भारत सरकार को कुछ सूझ नहीं रहा है कि क्या करें। यही नहीं भारत सरकार समस्या की गंभारता को समझने के लिए भी तैयार नहीं है।

कांग्रेस को इस पर टीएमसी का भी समर्थन मिला है। टीएमसी सांसद महुआ मोइत्रा ने लिखा कि “अच्छा होता जेपी नड्डा जी प्रधानमंत्री को चिट्ठी लिखकर कोरोना के खिलाफ लड़ाई को और मजबूत करने का ज्ञान देते” इससे पहले जेपी नड्डा ने सोनिया को चार पन्ने का शिकायती पत्र लिखा है। नड्डा ने कांग्रेस नेताओं पर नकारात्मकता फैलाने का आरोप लगाया है.. और कहा है कि वे प्रधानमंत्री मोदी की कोरोना से जारी लड़ाई को कमज़ोर करने का काम कर रहे हैं।

नड्डा ने लिखा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पिछले साल मार्च से ही कोरोना के खिलाफ लड़ाई में जुटे हुए हैं। वे अबतक कई बैठकों की अध्यक्षता कर चुके हैं और लगातार सभी मुख्यमंत्रियों के संपर्क में हैं। मैं काफी दुखी होकर यह पत्र लिख रहा हूं, क्योंकि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और सीएम कोरोना महामारी से लड़ाई के बारे में गलत जानकारी दे रहे हैं और भ्रम फैलाने की कोशिश कर रहे हैं।’

About Arghwan Rabbhi

Arghwan Rabbhi is a researcher and journalist.

View all posts by Arghwan Rabbhi →

Leave a Reply

Your email address will not be published.