चार्ली हेब्दो के वि’रोध में आया कनाडा, PM ट्रूडो ने कहा,’अभिव्यक्ति की आज़ादी का मतलब सिनेमा हॉल में ‘आग आग’चिल्लाना नहीं’

October 31, 2020 by No Comments

ओटावा: फ़्रांस की सरकार द्वारा ‘इस्लाम विरोधी’ “कट्टरपंथी” मैगज़ीन चार्ली हेब्दो के समर्थन में आने के बाद उसका कई देशों में विरोध हो रहा है. रूस पहले ही कह चुका है कि चार्ली हेब्दो जैसी “कट्टरपंथी उत्तेजक” मैगज़ीन की उनके देश में कोई जगह नहीं है, अब कनाडा के प्रधानमंत्री ने भी इस मुद्दे पर अपना पक्ष रखा है. प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने कहा कि अभिव्यक्ति की आज़ादी होनी चाहिए लेकिन एक सीमा के बाहर नहीं.

उन्होंने एक सवाल के जवाब में कहा,”हम हमेशा अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का समर्थन करेंगे, लेकिन अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता भी सीमा से बाहर नहीं होनी चाहिए.” ट्रूडो ने साथ ही कहा कि हमें दूसरों का सम्मान करते हुए काम करना चाहिए और इस बात की भी कोशिश करनी चाहिए कि उन लोगों को मनमाने ढंग से या अनावश्यक रूप से नुकसान न पहुंचाए जिनके साथ हम एक समाज और एक ग्रह साझा कर रहे हैं.

प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रुडो ने एक उदाहरण देते हुए अपना पक्ष रखा और कहा कि हमें भीड़ भरे सिनेमा हॉल में आग-आग चिल्लाने का अधिकार नहीं है. हर अधिकार की सीमाएं होती हैं. फ्रांसीसी राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रॉन द्वारा दिए बयान से दूरी बनाते हुए ट्रूडो ने अभिव्यक्ति के अधिकार का सावधानी पूर्वक उपयोग करने का अनुरोध किया.

प्रधानमंत्री ने कहा कि हमारे जैसे एक बहुलवादी, विविध और सम्मानजनक समाज में हमें अपने शब्दों के प्रभाव को समझना होगा, अपने कार्यों से दूसरों पर पड़ने वाले प्रभाव को समझना होगा खासकर उन समुदायों और आबादी के संदर्भ में जो आज भी भेदभाव झेलने को मजबूर हैं. उन्होंने साथ ही कहा कि कि समाज इन मुद्दों पर एक ज़िम्मेदार तरीक़े से सार्वजनिक बहस के लिए तैयार है. ट्रूडो ने यूरोपीय संघ के नेताओं के साथ पहले हुई बातचीत में उसे दोहराते हुए कहा उन्होंने फ्रांस में हालिया हुए भ’यानक और भया’वह ह’मलों की कड़ी निं’दा की.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *