बसपा के 9 विधायक होंगे सपा में शामिल, इस बड़ी घ’टना से मिला सं’केत..

उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनवों के नज़दीक आते ही राजनैतिक दलों में सियासी हलचल तेज़ हो गयी है। आज खबर है कि बसपा के 9 विधयकों ने सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव से मुलाकात की है सूत्रों की माने तो शीघ्र ही ये सभी विधायक सपा का दामन थाम सकते हैं। जैसे जैसे चुनाव नज़दीक आ रहे हैं बसपा की खींचतान लगातार सामने आ रही है।

अभी कुछ दिन पहले ही अम्बेडकर नगर के बड़े नेता व पूर्व मंत्री लालजी वर्मा, पूर्व विधानसभा अध्यक्ष राम अचल राजभर को भी सुश्री मायावती ने पार्टी से बाहर का रास्ता दिखाया था। सूबे के चुनवों में लगतार दलित वोटरों का बहन जी से मोह भं’ग होता देखा जा रहा है. बसपा का कोर वोटर भी अब उससे खिसकता दिख रहा है जहां पहले कोरी,मुसहर,पासी जैसे दलित समाज बहनजी के साथ जुड़ा था अब वो खिसक कर सपा व अन्य दलों के साथ जा रहा है।

पिछड़ी जातियों में मौर्या, कुर्मी,कुम्हार जैसी जातियाँ भी अब बसपा को छोड़ चुकी हैं। बहनजी की कई मुद्दों पर चुप्पी ने मुस्लिम मतदातओं का भी मोह भं’ग किया है। पिछले कई सालों से बसपा ने न तो प्रदेश में कोई आंदोलन किया है न ही दलितों पर होने वाली हिं’साओं पर भी खुल कर सामने आई है। ऐसे में कई वोटर सपा जैसे राजनैतिक दलों में खिसक चुके हैं।

अब यही देखना है की आगामी चुनवों से पहले बहनजी अपने नेताओं का पलायन रोककर कहाँ तक क्षतिपूर्ति कर पाती हैं। फ़िलहाल इस समय बसपा बैक गियर में है। कई राजनीतिक विश्लेषक ये मानते हैं कि आने वाले विधानसभा चुनाव बसपा के अस्तित्व के लिए बहुत अहम् हैं. अगर पार्टी इस चुनाव में संतोषजनक प्रदर्शन नहीं करती है तो फिर पार्टी के लिए बहुत बड़ा सं’कट खड़ा हो सकता है.

About Arghwan Rabbhi

Arghwan Rabbhi is a researcher and journalist.

View all posts by Arghwan Rabbhi →

Leave a Reply

Your email address will not be published.