लोकसभा चुनाव के दौरान एक बार फिर से जिन्ना विवा’द सामने आया है.इस बार मध्य प्रदेश के झाबुआ-रतलाम लोकसभा सीट से बीजेपी उम्मीदवार गुमान सिंह डामोर ने विवादि’त ब्यान दिया है उन्होंने जिन्ना को विद्वान व्यक्ति बताते हुए कहा है की अगर आजादी के समय नेहरू के बजाय उन्हें पीएम बनाया जाता तो देश के दो टुक’ड़े नहीं होते।

डामोर ने देश के विभाजन का ठीकरा पूर्व पीएम जवाहर लाल नेहरू पर फोड़ते हुए कहा कि अगर वो जिद (पीएम बनने की) नहीं करते तो देश के टुकड़े होते।डामोर के इस बयान का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।मध्यप्रदेश के झाबुआ से बीजेपी उम्मीदवार गुमान सिंह डामोर ने एक चुनावी सभा के दौरान मोहम्मद अली जिन्ना की तारीफ करते हुए कहा है कि अगर जिन्ना पीएम बनते तो देश का बंटवारा नहीं होता।लेकिन पंडित जवाहर लाल नेहरू जी के जिद की वजह से देश के दो टुकड़े हुए।


बकौल डामोर, “आजादी के समय अगर नेहरू जिद नहीं करते तो इस देश के दो टुकड़े नहीं होते।मोहम्मद जिन्ना एक वकील,एक विद्वान व्यक्ति को अगर उस वक्त पीएम बनाने का निर्णय होता तो देश के टुकड़व नहीं होते।”जनसभा को संबोधित करते हुए बीजेपी उम्मीदवार गुमान सिंह ने कहा कि हमारे सामने जो विरोधी पार्टी कांग्रेस है।उसका इतिहास अंग्रेजों का गुणगान करने का रहा है।

उन्होंने कहा कि ब्रिटिश सरकार की मदद के लिए ये पार्टी बनी थी। 1952 से पहले के कांग्रेस के अधिवेशनों के नोट पढ़ेंगे तो उसमें सिर्फ अंग्रेजों का गुणगान है। इसलिए अगर देश के बंटवारे के लिए कोई पार्टी जिम्मेदार है तो वो सिर्फ कांग्रेस है।उन्होंने आगे कहा कि उस वक्त नेहरू जी के जिद की वजह से ही भारत के दो टुकडे हुए क्योंकि उस वक्त कांग्रेस में पीएम पद के कई दावेदार थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here