भाजपा के आगे फिर झु’क गई शिवसेना?, मी’टिंग में लिया ये फ़ै’सला

भारत राजनीति

जब से महाराष्ट्र विधानसभा चु’नावों के नती’जे आए हैं तभी से भाजपा और शिवसेना के बीच सर’कार बनाने के मु’द्दे पर अ’लग-अ’लग रा’य चल रही है। जहाँ भाजपा मुख्यमंत्री के रूप में अपने मंत्री को देखती है वहीं शिवसेना ये चाहती है कि उन्हें भी इस चु’नाव का फ़ा’यदा मिले साथ ही सर’कार बनाने का मौ’क़ा मिले। जहाँ ये खीं’चता न चल रही थी इसी बीच आज हुई शिवसेना की मी’टिंग में स’र्वसम्मत्ति से शिवसेना के ने’ता एकनाथ शिंदे को शिवसेना के विधा’यक द’ल का ने’ता चुन लिया गया। बता दें कि ये दूसरी बार है जब शिवसेना के विधा’यक द’ल के ने’ता के रूप में एकनाथ शिंदे को चु’ना गया है।

राजनी’ति के जा’नकारों की माने तो एकनाथ शिंदे को विधा’यक द’ल का ने’ता चुनना एक बड़ा संदेश देता है। कहा जा रहा है कि शिवसेना ने आदित्य ठाकरे को विधा’यक द’ल का ने’ता न चुनकर ये सं’केत दे दिया है कि वो मुख्यमंत्री प’द को लेकर अब भाजपा से मां’ग नहीं करेगी। वहीं शिवसेना के बड़े ने’ता संजय राउत ने ब’यान देते हुए कहा है कि भाजपा शिवसेना को बच्चा न समझे जब से भाजपा की शुरुआत हुई है शिवसेना तब से अस्तित्व में है। वहीं सर’कार बनाने के मु’द्दे पर भी संजय राउत का कहना है कि शिवसेना किसी भी हा’ल में मुख्यमंत्री प’द पूरी तरह से नहीं छो’ड़ेगी। साथ ही उन्होने कहा कि अगर भाजपा कहती है कि ढाई- ढाई साल की स’त्ता बाँटना सही नहीं है तो उन्हें लगता है कि संविधान को एक बार फिर से पढ़ने की ज़रूरत है

Eknath shinde, uddhav Thackery, Aditya Thackery with party member

दूसरी ओर शिवसेना के विधा’यक आज राज्यपाल से मुलाक़ात करने वाले हैं। दोपहर में होने वाली इस मुलाक़ात का विषय महाराष्ट्र में आयी अका’ल और बा’ढ़ की स्थिति पर बात करना है। इससे पहले भी शिवसेना सदस्य राज्यपाल से मुलाक़ात कर चुके हैं और उस समय सर’कार बनाने की स्थिति पर च’र्चा की गयी थी। बताया जा रहा है कि भले ही इस बार राज्यपाल से मुलाक़ात का मु’द्दा अ’लग बताया जा रहा है लेकिन शिवसेना अपने विधा’यकों के साथ राज्यपाल से मुलाक़ात करके अपनी संगठित ताक़त का प्रदर्शन भी करना चाहती है। इस मीटिंग के बाद शिवसेना की ओर से क्या ब’यान आता है ये देखने की बात होगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *