यूँ तो लोग अपने पालतू जा’नवरों के लिए कुछ भी करने को तै’यार होते हैं लेकिन एक शख़्स ने सभी को मा’त दे दी है। इस शख़्स ने अपनी बिल्ली के नाम पर ख़’र्च किए क़रीब 25 ला’ख रुपए। जी हाँ, सुनने में ये बात वा’स्तविक नहीं लगती लेकिन ये बात बिलकुल सच है। दरअसल जब बीजिं ग के 23 साल के हुआंग यू की पालतू बिल्ली गार्लिक की जा’न गयी तो हुआंग यू ने इसके लिए ख़ुद को दो’षी माना और अपनी इस ग़ल’ती को सुधारने के लिए उन्होने अपनी बिल्ली गार्लिक का क्लो न तैयार करवाया जिसकी लाग’त है क़रीब 25 ला’ख रुपए।

गार्लिक के जाने के बाद हुआंग यू को उसकी याद स’ताने लगी और उन्हें लगने लगा कि उन्होंने गार्लिक की दे खभाल में बहुत चू’क की जिससे वो च ली गयी। अपने इस दुः ख से उ’बरने के लिए हुआंग यू ने ऐसा रास्ता चुना जिसे देखकर दुनिया है’रान रह गयी। हुआंग यू ने गार्लिक का क्लो’न बनवाने का फ़ै’सला किया और ये काम सौंपा क्लो’न बनाने वाली कम्पनी सिंगोजीन को। गार्लिक के जाने के सात महीने बाद उसका क्लो’न बनकर तैयार हो गया और हुआंग यू ये देखकर है’रान रह गए कि गार्लिक का क्लो’न बिलकुल उसी की तरह दिखता है।

Clone of Garlic

गार्लिक का क्लो’न देखते ही ख़ुशी से भरे हुआंग यू ने कहा, “जब मेरी पालतू बिल्ली गार्लिक म’री तो मैं बहुत दुः खी हो गया था। उसकी मौ’त के लिए मैं ख़ुद को ही दो’षी मानता हूँ। मैंने उसकी ठीक से दे खभाल नहीं की। समय पर उसे अस्प ताल नहीं ले जा सका। अब जब मुझे दूसरी बिल्ली मिल गयी है, तब उसका दूसरा रूप देखकर ख़ुश हूँ।”

चीन की सिंगोजीन कंपनी, जिन्होंने गार्लिक का क्लो न बनाया है, वो भी इस क्लो न को बनाकर ख़ुश है क्योंकि वो बीजिंग की पहली ऐसी कंपनी बन गई है जिसने सफ़लतापूर्वक किसी बिल्ली का क्लो न बनाया है। ये उनकी पहली क्लो न बिल्ली है इसे बनाने में उन्हें क़ामयाबी मिली, ये क्लो न गार्लिक से 90% मिलता- जुलता है। इससे पहले इस कम्पनी ने कु त्तों के क्लो न तैयार किए हैं। यहाँ हम बता दें कि ऐसे कई देश हैं जहाँ क्लो न से इस तरह जीव बनाना क़ानू’नन वै’ध नहीं है लेकिन चीन और अमेरिका में इसे क़ानू’न की ओर से मान्यता प्राप्त है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *