बिहार NDA से क्यूँ टूटा तीसरा सबसे बड़ा दल, अमित शाह ने दिया ये जवाब

October 18, 2020 by No Comments

दिल्ली. बिहार चुनाव को लेकर अब प्रचार पूरे चरम पर है. भाजपा और जदयू का गठबंधन NDA इस समय कुछ मुश्किल फ़ेस कर रहा है. असल में सबसे बड़ी मुश्किल इस बात को लेकर है कि NDA से लोजपा अलग हो गई है लेकिन वो अपने आपको NDA से अलग नहीं मानती है. लोजपा जदयू के ख़िलाफ़ जमकर बयान दे रही है लेकिन भाजपा को अपना साथी कह रही है. इस वजह से एक संदेह की स्थिति पैदा हो रही है. भाजपा को इस बात का डर है कि कहीं लोजपा उसके वोट न काट ले.

जदयू लोजपा के मुद्दे पर भाजपा से भी नाराज़ है. जदयू नेता अपनी आपसी बातचीत में ये कहते मिल जाते हैं कि लोजपा जो कर रही है वो भाजपा के इशारे पर कर रही है. पार्टी उन ख़बरों को भी इग्नोर नहीं कर पा रही है जिसमें ये कहा जा रहा था कि जदयू का अब भाजपा में विलय हो जाना चाहिए. लोजपा के मुद्दे पर गृहमंत्री अमित शाह ने बयान दिया है. भाजपा के वरिष्ठ नेता अमित शाह ने एक टीवी न्यूज़ को दिए बयान में दिवंगत केन्द्रीय मंत्री राम विलास पासवान की मौ’त पर अ’फ़सोस जताया.

अमित शाह ने कहा,”रामविलास पासवान हमारे साथ थे, लेकिन उनके बेटे हमारे साथ नहीं है. गठबंधन छोड़ने का जवाब तो सिर्फ चिराग पासवान ही दे सकते हैं”.अमित शाह ने दावा किया कि लोजपा क्यूँ अलग हुई ये तो नहीं पता लेकिन चिराग़ पासवान को “उचित” सीटों की पेशकश की गई थी और बातचीत के भी कई प्रयास किए गए थे. अमित शाह ने कहा कि जहां तक बीजेपी-जेडीयू-एलजेपी के गठबंधन का सवाल है, बीजेपी और जेडीयू दोनों की ओर से एलजेपी को उचित संख्या में बार-बार सीटों की पेशकश की गई. इस बाबत कई बार बातचीत भी हुई. मैंने व्यक्तिगत रूप से कई बार चिराग से बात की.

Tags: ,

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *