पटना: पिछले कई दिनों से बिहार की राजनीति में घ’मासान जारी है। बिहार एनडीए में सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है। सोमवार देर शाम बिहार सरकार में मंत्री शाहनवाज हुसैन “हम” पार्टी प्रमुख जीतनराम मांझी के आवास उनसे मुलाकात करने पहुंचे। इसलिए राजनीतिक गलियारों में ऐसे कयास लगाए जा रहें हैं कि, शाहनवाज हुसैन ने जीतनराम मांझी से मिलकर वह दूरी कम करने की कोशिश की जो दूरी एनडीए के दलों में पनप गई है। बिहार एनडीए में चार पार्टीयो का गठबंधन है। पर बात केवल भाजपा-जदयू की ही होती है। इस आ’रोप के साथ बिहार सरकार में मंत्री और “वीआईपी” के अध्यक्ष मुकेश सहनी भी पिछले दिनों एनडीए पर ह’मलावर थे।

उन्होंने भी सोमवार को जीतनराम मांझी से मुलाकात की थी। इस मुलाकात के बाद अचानक शहनवाज हुसैन का मांझी के घर पहुंचना यही इशारा करता है कि बिहार एनडीए के अंदर सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है। जिसे ठीक करने की कोशिश की जा रही है। ”हम”और “वीआईपी” का अपना एक वोट बैंक है। इसलिए भाजपा कभी नहीं चाहेगी कि वो किसी जातीय वोट बैंक वाले नेताओं को ना’राज़ करें। जबकि वह बिहार में बदलते समीकरणों को पहले से भांप रही है।

हालांकि “हम”पार्टी के प्रवक्ता ने कहा कि यह एक व्यक्तिगत मुलाकात थी। इसमें कयास लगाने जैसा कुछ भी नहीं है। सब कुछ ठीक चल रहा है। वहीं मुकेश सहनी ने भी बाद में नीतीश कुमार के नेतृत्व में पांच साल सरकार चलने का दावा भी किया। साथ ही कहा कि जीतनराम मांझी प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री हैं। उन्हे एनडीए सरकार में उचित सम्मान मिलना चाहिए। बस वो यही शि’कायत रखते हैं और एनडीए की बैठकों में इसपर चर्चा करते रहते हैं, बाकि सब ठीक है। बता दें कि मुकेश सहनी यूपी सरकार से नाराज़ हैं। जिसके चलते उन्होंने बीजेपी विधायक दल की बैठक का बहिष्कार भी किया था।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *