बिहार में राजद ने भी शुरू की सरकार ब’नाने की कोशिश, NDA की दो पा’र्टियों से हुई बात..

November 12, 2020 by No Comments

पटना: बिहार में विधानसभा चुनाव तो समाप्त हो गया है लेकिन अभी सरकार बनाने और जोड़तोड़ का खेल बाक़ी है. हालाँकि जोड़-तोड़ के खेल में सबसे माहिर इन दिनों भाजपा को समझा जाता है लेकिन इस समय सबसे ज़्यादा डर भाजपा को है कि कहीं उसके छोटे साथी महागठबंधन का रुख न कर लें. असल में भाजपा की मजबूरी ये भी है कि वो कैसे इन छोटे घटक दलों को ख़ुश करे और कैसे जदयू को अपने पाले में बनाये रखे.

जदयू के नेता साफ़ तौर पर कहते हैं कि अगर उन्हें मुख्यमंत्री पद नहीं मिला तो वो NDA छोड़ देंगे. अब ख़बर है कि राजद नेता ने इसके लिए एनडीए के दो छोटे घटक दलों से संपर्क भी किया है। राजनीतिक सूत्रों की मानी जाए तो विकासशील इंसान पार्टी के मुकेश सहनी और हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा के जीतन राम मांझी से संपर्क किया है। सूत्रों का कहना है कि राजद को अब तक कोई सकारात्मक प्रतिक्रिया नहीं मिली है लेकिन पार्टी का कहना है कि “हमारे रास्ते खुले रहेंगे”।

राजद सूत्र ने कहा कि मुकेश सहनी डिप्टी सीएम बनना चाहते हैं और पार्टी उन्हें यह पद दे सकती है। मालूम हो कि महागठबंधन को इस चुनाव में 110 सीटें मिली हैं। बताया जा रहा है कि इस धड़े को सरकार बनाने के लिए राज्य द्वारा और विधायकों की जरूरत है। अगर इन दोनों दलों के साथ आने के बाद ओवैसी की एआईएमआईएम की पार्टी को भी साथ ले लिया जाता है तो उनके पास बहुमत के लायक आवश्यक संख्या बल पूरा हो जाएगा।

बता दें कि वीआईपी प्रमुख मुकेश सहनी खुद इस बार सिमरी बख्तियारपुर सीट से चुनाव हार गए हैं। वहीं, जीतनराम मांझी की पार्टी को 4 सीटों पर जीत मिली है। राजद के एक सूत्र ने कहा कि प्रयास करने में हर्ज क्या है? अगर वीआईपी और एचएएम (एस) हमारे पास आते हैं, तो हम यह सुनिश्चित कर सकते हैं कि उन्हें बहुत अच्छा फायदा मिल सकता है, जो एनडीए उन्हें दे सकता है। वीआईपी के एक सूत्र ने राजद के ऑफर की पुष्टि की लेकिन संकेत दिया कि पाला बदलने की संभावना नहीं है। “हमें डिप्टी सीएम और एक मंत्री पद की पेशकश की जा रही है। हमने अपने नेताओं के साथ इस पर चर्चा की।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *