बिहार में इतनी सीटों पर मुस्लिम वोटर्स के हाथ में होगी जीत-हार की चाबी..

October 10, 2020 by No Comments

पटना: इस समय राजनीतिक गलियारों में सबसे अधिक चर्चा बिहार विधानसभा चुनाव की ही है. बिहार चुनाव में मुख्य तौर से जो दो गठबंधन मुक़ाबले में हैं उनमें एक महागठबंधन है और दूसरा NDA वहीँ एक और गठबंधन तीसरे मोर्चे की तरह निकल कर आ रहा है. ऐसे में चुनाव दिलचस्प होते दिख रहे हैं. आज हम बात करने जा रहे हैं बिहार चुनाव में मुस्लिम समाज की स्थिति क्या है. मतलब कितनी ऐसी सीटें हैं जिन पर मुस्लिम समुदाय वोट करके पासा पलट सकता है.

राज्य में मुस्लिम आबादी 16 फीसदी और यादवों की आबादी 14 फीसदी के करीब है. राजद इसे अपना परंपरागत वोट बैंक समझता रहा है. ऐसा माना जाता है कि राजद ने मुस्लिम समुदाय के लिए काम भी किए हैं. बिहार की विधानसभा में क़रीब 47 ऐसी सीटें हैं जिनके फ़ैसले में मुसलमान वोटर की बड़ी भूमिका रहती है. विधानसभा में कुल 243 सीटें हैं और ये जो 47 सीटें हैं इनमें मुस्लिम वोटर की आबादी 20 से 40 फ़ीसदी तक है. चूंकि आम तौर पर मुस्लिम वोट बंटता नहीं है, इसलिए इसकी इम्पोर्टेंस ज़्यादा हो जाती है.

मुस्लिम समाज जिन मुद्दों पर वोट कर सकता है उनमें बेरोज़गारी, बाढ़ की समस्या और कोरोना में सरकार की भूमिका तो है ही, साथ ही तीन तलाक़, नागरिकता संशोधन क़ानून, अनुच्छेद 370 को हटाना भी मुस्लिम समाज के मुद्दे हो सकते हैं. बिहार की सियासत में इस बार आल इंडिया मजलिस ए इत्तिहादुल मुस्लिमीन भी ज़्यादा मज़बूती से उतर रही है. छोटे दल किन मुद्दों को उठाते हैं ये देखना भी दिलचस्प होगा वहीं राजद और जदयू दोनों ही कोशिश करेंगे कि मुस्लिम समाज उनके पक्ष में वोट करे.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *