बिहार में AIMIM को मिलेगा ये अहम् दर्जा, इसके साथ इनको..

November 14, 2020 by No Comments

बिहार विधानसभा चुनाव के नतीजे आ गए हैं. इन नतीजों में बड़े दलों ने तो सीटें जीती ही हैं, कुछ छोटे दलों की भी चाँदी हो गई है. महागठबंधन के साथ रही भाकपा (माले) ने चुनाव में 12 सीटें जीतकर शानदार प्रदर्शन किया है. इसके अलावा आल इंडिया मजलिस ए इत्तिहादुल मुस्लिमीन ने भी 5 सीटें जीतकर बिहार राजनीति में संजीदा एंट्री कर ली है. NDA के साथ चलकर VIP और ‘हम’ ने भी सम्मानजनक प्रदर्शन किया है. ‘हम’ ने चार और VIP ने भी चार सीटें जीती हैं.

इन सभी दलों को अब उम्मीद है कि उन्हें बिहार में राज्यस्तरीय पार्टी का दर्जा मिल जाएगा. चुनाव में अच्छा प्रदर्शन करने वाले ये दल निबंधित ग़ैर-मान्यता प्राप्त दल की लिस्ट से निकलकर राज्यस्तरीय दल बन सकते हैं. राज्यस्तरीय दल को कई तरह की सुविधाएँ मिलती हैं. राजधानी पटना में सरकारी दफ्तर मिल सकता है, चुनाव पूर्व इन दलों को टीवी और रेडियो पर अपने प्रचार के लिए समय भी दिया जाता है. निर्वाचक नामावलियां भी मुफ्त प्राप्त होती हैं.

आल इंडिया मजलिस ए इत्तिहादुल मुस्लिमीन के प्रदेश अध्यक्ष अख्तरुल ईमान इस पर कहते हिंम”बिहार में ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के पांच विधायक चुनाव जीते हैं। संविधान के नियम के तहत राज्यस्तरीय पार्टी के दर्जे के लिए हम निर्वाचन आयोग से मिलकर गुजारिश करेंगे।” ‘हम’ प्रवक्ता दानिश रिज़वान इस सिलसिले में अपना पक्ष रखते हुए कहते हैं,”हम पार्टी का सिंबल ‘कड़ाही’ अब स्थायी रूप से उन्हें मिल जाएगा। अब पार्टी को राज्यस्तर का दर्जा मिल जाएगा। इसके लिए शर्त है कि पार्टी के दो विधायक होने चाहिए, जबकि अब ‘हम’ के चार उम्मीदवार जीते हैं। सरकारी कार्यालय भी मिलेगा।”

VIP के राजीव मिश्रा भी अपना दावा मज़बूती से पेश करते हुए कहते हैं,”हमने इस चुनाव में चार सीटें जीती हैं और हमारी पार्टी राज्यस्तरीय दल बनने की अर्हता पूरी कर रही है। अब सरकारी कार्यालय सहित अन्य सुविधाएं वीआईपी को मिल सकेंगी।” भाकपा माले के सदस्य सचिव कुणाल ने बताया कि 2005 में उनका दल सात सीटें जीता था, तब उन्हें राज्यस्तरीय दल की मान्यता मिली थी, इस बार 12 विधायक हैं तो फिर ये मिल जाने की संभावना है.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *