नई दिल्ली: बिहार में भाजपा और जदयू के एक गुट में सब कुछ ठीक है ऐसा नहीं कहा जा सकता. जदयू के नेता इस समय दो तरह की बात कर रहे हैं, एक वो हैं जो भाजपा के साथ दिख रहे हैं तो एक ऐसे हैं जो भाजपा से गठबंध’न तो’ड़ने की वकालत करते नज़र आ रहे हैं. इस बीच जदयू के उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर और भाजपा नेता और राज्य के उप-मुख्यमंत्री सुशील मोदी के बीच ज़ुबानी जं’ग जारी है.

हाल ही में सुशील मोदी ने ट्विटर पर नाम लिया बिना ही कुछ नेताओं को नीतीश कुमार के प्रति एहसा’न-फ़’रामोश होने का आरो’प लगा दिया. इस बात को किशोर ने अपनी तौहीन समझा और तुरंत ही एक ट्वीट किया जिसमें सुशील मोदी का एक विडियो है. मोदी को टैग करते हुए ये पुराना विडियो उन्होंने पोस्ट किया. इसके पहले सुशील मोदी ने ट्वीट किया,”नीतीश कुमार जी के साथ यह विडं’बना अक्सर होती है कि अपनी उदारताव’श वे जिनको फर्श से उठाकर अर्श पर बैठाते हैं, वे ही उनके लिए मुसी’बत बनने लगते हैं.”
https://twitter.com/PrashantKishor/status/1220887599620988928?
इस ट्वीट में आगे लिखते हैं,”उन्होंने किसी को अपनी कुर्सी दी, कितनों को राज्यसभा का सदस्य बनवाया, किसी को गैर-राजनीतिक ग’लियों से उठाकर संगठन में ऊंचा ओहदा दे दिया, लेकिन इनमें से कुछ लोगों ने थैंकलेस होने से गुरेज नहीं किया. राजनीति में भी हमेशा सब जायज नहीं होता.” इसके बाद प्रशांत किशोर लिखते हैं,”लोगों को कैरेक्टर सर्टिफिकेट देने में सुशील कुमार मोदी जी का कोई जोड़ नहीं है. देखिए पहले बोलकर बता रहे थे और अब डिप्टी सीएम बना दिए गए तो लिख कर दे रहे हैं. इनकी क्रोनोलॉजी भी बिल्कुल क्लीयर है.’

प्रशांत किशोर ने जिस वीडियो को शेयर किया है उसमें डिप्टी सीएम सुशील मोदी कह रहे हैं, ‘नीतीश कुमार अपने आप को बिहार का पर्याय समझने लगे हैं. नीतीश कुमार बिहार नहीं हैं और बिहार न ही बिहार नीतीश कुमार है. इंडिया इज इंदिरा, इंदिरा इज इंडिया, वो जमाना चला गया और नीतीश के डीएनए में विश्वासघा’त है, धोखाधड़ी है. उन्होंने जिस प्रकार से जीतन राम मांझी को धोखा दिया, जिस तरह से 17 साल की दोस्ती के बाद बीजेपी को धोखा दिया, जिस तरह से बिहार की जनता के जनादेश के साथ विश्वासघा’त किया, जिस व्यक्ति ने शिवानंद तिवारी से लेकर जॉर्ज फर्नांडीज तक के साथ विश्वासघा’त किया, लालू यादव को जिसने धोखा दिया, ये विश्वासघा’त या धोखाधड़ी है, ये नीतीश कुमार का डीएनए है न कि बिहार के लोगों का डीएनए है.’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *