लखनऊ: उत्तर प्रदेश की राजनीति में उस समय बड़ी हलचल पैदा हो गई जब योगी सरकार के बड़े कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्या ने मंत्रीपद से इस्तीफ़ा दे दिया और भाजपा छोड़ दी. इसके तुरंत बाद सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने उनके साथ अपनी एक फ़ोटो शेयर की जिससे ये साफ़ हो गया कि मौर्या सपा में जा रहे हैं.


भले ही भाजपा के नेताओं के लिए ये ख़बर अचानक आयी लेकिन सपा के सूत्र बताते हैं कि पिछले एक महीने से सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव मौर्या से संपर्क बनाए हुए थे. मौर्या उत्तर प्रदेश सरकार में श्रम मंत्री थे. मौर्या दावा कर रहे हैं कि भाजपा के कई पदाधिकारी उनके साथ हैं और जल्द ही वे भी भाजपा छोड़ेंगे.

वहीं इस सिलसिले में एनसीपी के अध्यक्ष और देश की राजनीति के दिग्गज माने जाने वाले शरद पवार ने इशारा किया कि कई और विधायक सपा के साथ आ सकते हैं. पवार ने तो इसको लेकर आँकड़ा भी दिया है. शरद पवार ने कहा कि भाजपा के 13 विधायक सपा में शामिल होंगे. उन्होंने कहा कि एनसीपी राज्य में सपा और दूसरे छोटे दलों के साथ मिलकर चुनाव लड़ेगी. पवार ने दावा किया कि उत्तर प्रदेश की जनता बदलाव चाहती है.

अपने इस्तीफे में स्वामी प्रसाद मौर्य ने कहा, ‘श्रम एवं सेवायोजन व समन्वय मंत्री के रूप में विपरीत परिस्थितियों व समन्वय मंत्री के रूप में विपरीत परिस्थितियों व विचारधारा में रहकर भी बहुत ही मनोयोग के साथ उत्तरदायित्व का निर्वहन किया है किंतु दलितों, पिछड़ों, किसानों बेरोजगार नौजवानों एवं छोटे- लघु एवं मध्यम श्रेणी के व्यापारियों की घोर उपेक्षात्मक रवैये के कारण उत्तर प्रदेश के मंत्रिमंडल से मैं इस्तीफा दे रहा हूँ”


उन्होंने साथ ही ट्विटर पर लिखा,”दलितों, पिछड़ों, किसानों, बेरोजगार नौजवानों एवं छोटे-लघु एवं मध्यम श्रेणी के व्यापारियों की घोर उपेक्षात्मक रवैये के कारण उत्तर प्रदेश के योगी मंत्रिमंडल से इस्तीफा देता हूं।” सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने मौर्या के साथ एक फ़ोटो शेयर कर लिखा है,”सामाजिक न्याय और समता-समानता की लड़ाई लड़ने वाले लोकप्रिय नेता श्री स्वामी प्रसाद मौर्या जी एवं उनके साथ आने वाले अन्य सभी नेताओं, कार्यकर्ताओं और समर्थकों का सपा में ससम्मान हार्दिक स्वागत एवं अभिनंदन!”

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *