भाजपा प्रत्याशी की गा’ड़ी से EVM मिलने पर चुनाव आयोग ने दी सफ़ाई लेकिन करनी पड़ी कार्यवाई..

असम विधानसभा चुनाव में भाजपा प्रत्याशी की गाड़ी से EVM मिलने की घटना ने राजनीतिक तू’फ़ान ला दिया है. चुनाव आयोग भी इस घ’टना से परे’शान है और लोगों का भरोसा क़ायम करने की कोशिश में है. चुनाव आयोग ने BJP नेता की गाड़ी में EVM मिलने की घटना पर सफाई देते हुए कहा है कि गाड़ी ख़राब हो गई थी। इसके बाद चुनाव अधिकारियों को BJP प्रत्याशी की गाड़ी में लिफ्ट लेना पड़ा। सफाई देने बाद आयोग ने इस मामले में चार अधिकारियों को सस्पेंड करने का आदेश जारी कर दिया है।

इस मामले में जो कार चर्चा में है वो भाजपा उम्मीदवार की है और ऐसे में कांग्रेस और बाक़ी विपक्षी दल गंभीर सवाल पूछ रहे हैं. चुनाव आयोग ने इसको देखते हुए पोलिंग बूथ पर फिर से चुनाव कराने का एलान कर दिया है. चुनाव आयोग ने आज इस सिलसिले में बयान दिया कि निरीक्षण के बाद पाया गया कि BU,CU और VVPAT सील के साथ पाए गए हैं और उनके साथ कोई छेड़छाड़ नहीं हो पी है..सभी आइटम को स्ट्रोंग रूम में रखा गया है.

चुनाव आयोग ने कहा कि प्रेसिडिंग ऑफिसर को शो काज़ नोटिस दिया गया है. PO और तीन अन्य अधिकारियों को बर्ख़ास्त कर दिया गया है. आयोग ने माना है कि ट्रांसपोर्ट प्रोटोकॉल का उल्लंघन हुआ है. हालाँकि EVM की सील नहीं टूटी है लेकिन पोलिंग बूथ संख्या 149 (LAC1 रताबरी -SC के इंदिरा MV स्कूल) पर फिर से वोटिंग कराई जाएगी.

आपको बता दें कि असम में दूसरे चरण का मतदान समाप्त होने के साथ ही एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया. सोशल मीडिया पर वायरल इस वीडियो में एक प्राइवेट कार से वोटिंग में इस्तेमाल हुई EVM मिली है. ये वीडियो असम के स्थानीय पत्रकार अतानू भूयान ने अपने ट्विटर हैंडल से पोस्ट किया है. उन्होंने इसके कैप्शन में लिखा है कि भाजपा उम्मीदवार कृष्णेंदु पाल की कार से EVM मिलने के बाद स्थिति तनावपूर्ण है.

इस वीडियो के सोशल मीडिया पर आते ही चुनाव आयोग की सुरक्षा व्यवस्था पर सवाल उठ रहे हैं. कांग्रेस के कई नेताओं ने भाजपा की कड़ी आलोचना की है. प्रियंका गांधी समेत कांग्रेस के नेताओं ने बीजेपी पर गंभीर आरोप लगाकर वीडियो की जांच कराने की मांग की है. वीडियो में दिख रहा है कि सफेद रंग की जीप (जिसका नंबर AS 10B 0022 है) के अंगर ईवीएम देखी जा रही है। वीडियो में लोग यह कहते सुने जा रहे हैं कि जीप कृष्णेंदु पॉल की है। इसके बाद कांग्रेस सांसद प्रद्युत बोरोदलई से लेकर गौरव गोगोई ने इस पर ट्वीट किया और बीजेपी ने ईवीएम लूटने का आरोप लगाया।

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने ट्वीट किया, ‘हर बार ऐसे वीडियो सामने आते हैं जिनमें प्राइवेट गाड़ियों में ईवीएम ले जाते हुए पकड़े जाते हैं। अप्रत्याशित रूप से उनमें कुछ चीजें कॉमन होती है- गाड़ियां बीजेपी उम्मीदवार या उनके साथियों से जुड़ी होती हैं। वीडियो एक घटना के रूप में सामने आते हैं और फिर झूठ बताकर खारिज कर दिया जाता है।’

About Arghwan Rabbhi

Arghwan Rabbhi is a researcher and journalist.

View all posts by Arghwan Rabbhi →

Leave a Reply

Your email address will not be published.