भाजपा फिर कर रही थी सरकार गिराने की कोशिश, गहलोत ने चल दी ये चाल..

August 14, 2020 by No Comments

जयपुर: राजस्थान में चले सियासी बवाल का निपटारा अब हो चुका है. इस पूरे मामले में भाजपा की जो भी उम्मीदें बनी थीं वो सब धूमिल हो गई हैं. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और पूर्व उप-मुख्यमंत्री सचिन पायलट फिर से एक हो चुके हैं. हालाँकि इसके बाद भाजपा नेता और विधानसभा में विपक्ष के नेता गुलाब चंद कटारिया (Gulab Chand Kataria) ने कहा, ‘हम अपने सहयोगी दलों के साथ विधानसभा में अविश्वास प्रस्ताव ला रहे हैं.’

भाजपा के इस बयान पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी प्रतिक्रिया दी. उन्होंने कहा,”हम खुद विधानसभा में विश्‍वास प्रस्‍ताव लाएंगे.”जिस तरह से ये पूरा घटनाक्रम हुआ, उससे विधायक वास्तव में परेशान थे. मैंने उन्हें समझाया कि कभी-कभी हमें सहनशील होने की आवश्यकता होती है. हमें राष्ट्र, राज्य और लोगों की सेवा करनी है और लोकतंत्र को बचाना है.”

सचिन पायलट से मुलाकात करने के बाद CM ने बैठक में कहा, ‘जो बातें हुईं, उन्हें अब भूल जाओ. हम इन 19 विधायकों के बिना भी बहुमत साबित कर देते लेकिन फिर वह खुशी नहीं मिलती क्योंकि अपने तो अपने होते हैं.’ CM गहलोत ने कहा, ‘हम खुद विधानसभा में विश्‍वास प्रस्‍ताव लाएंगे. जिन विधायकों को कोई समस्या है, जो रूठे हैं वो मुझसे अकेले आकर मिल सकते हैं.’

आज विधानसभा सत्र शुरू होने से पहले अशोक गहलोत को एक और बड़ी राहत मिली है. बीएसपी से कांग्रेस में शामिल होने वाले 6 विधायक विधानसभा सत्र में भाग ले सकेंगे. राजस्थान मामले में सुप्रीम कोर्ट ने फिलहाल बीएसपी विधायकों के कांग्रेस में विलय के स्पीकर के आदेश पर रोक लगाने से कर दिया है. सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि इस मामले में फिलहाल हाईकोर्ट सुनवाई कर रहा है और ऐसे में शीर्ष अदालत दखल नहीं देगी.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *