भाजपा के च’क्रव्यूह में फंसे नीतीश कुमार, कांग्रेस के बाद राजद ने भी दिया..

December 15, 2020 by No Comments

बिहार की सियासत अभी काफ़ी कुछ चल रहा है. विधानसभा चुनाव होने के बाद से ही बिहार सियासत कई तरह से चल रही है. फ़िलहाल NDA सरकार ने नीतीश कुमार को मुख्यमंत्री पद पर बिठाया है। लेकिन इस नई सरकार के गठन के बाद छाई खामोशियां सियासी गलियारों में बयानबाजी का कारण बन रही है। दरअसल विपक्ष इस मामले में काफी सक्रिय हो रहा है। जिसके चलते महा गठबंधन सरकार में फैले इस सन्नाटे को लेकर लगातार उन पर तंज कसा रहा है।

कांग्रेस ने सोमवार एनडीए गठबंधन में शामिल जितेंद्र जी को साथ आने का ऑफर दिया था। अब राजद ने भी नीतीश कुमार को भाजपा से अलग होने की सलाह तक दे डाली है। बताया जा रहा है कि राजद ने नीतीश कुमार को कहा है कि वह भाजपा द्वारा रचे के चक्रव्यूह में फं’से हुए हैं। इस मामले में राजद के विधायक भाई बिरेंद्र ने कहा है कि नीतीश कुमार चारों तरफ से घेर चुके हैं और भाजपा उन्हें फं’साना चाहती है।

भाजपा का मकसद नितीश कुमार का सब कुछ खत्म कर देने का है। इतना ही नहीं राजद नेता भाई बिरेंद्र ने कहा है कि नीतीश कुमार और लालू प्रसाद एक साथ काम कर चुके हैं। यह दोनों 74 के आंदोलन के नेता रहे हैं। हम लोगों की नीतीश कुमार के प्रति सहानुभूति है। लिहाजा सलाह दे रहे हैं कि बीजेपी को छोड़कर आगे आएं। इतना ही नहीं अगर विधायक ने खुले तौर पर कहा है कि नीतीश कुमार को एनडीए से अलग होकर महागठबंधन के साथ आ जाना चाहिए।

हम उन्हें इस मामले में सलाह भी दे रहे हैं और उनका पार्टी में स्वागत भी करेंगे। अ’परा’ध को लेकर बिहार सरकार पर हमला बोलते हुए भाई बिरेंद्र ने कहा कि भ्र’ष्ट्राचा’र पर सरकार की कोई नीति नहीं है। नीतीश सरकार के पार कोई पॉवर नहीं है, जो भी है बीजेपी के पाला में हैं, इनके पास कुछ भी नहीं हैं। इन्हें तो सीएम पद स्वीकार ही नहीं करना चाहिए था, लेकिन ये किस मुंह से सीएम बने हैं ये यही बताएंगे।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *