बैंगलोर पुलिस के आला अधिकारी भी एं’टी CAA प्रोटेस्ट में हुए शामिल?, सोशल मीडिया पर वायर’ल फोटो का सच

बेंगलुरु से एक ऐसी ख़बर आ रही है जिसको CAA और NRC के ख़िला’फ़ प्रोटेस्ट कर रहे युवा और छात्र लगातार शेयर कर रहे हैं। असल में आंदोलन के शुरू होने के बाद से ही पुलिस के रवैये की आलोचना हो रही है। आलोचना सबसे अधिक दिल्ली पुलिस की हो रही है जहाँ पुलिस ने छात्रों पर यूनिवर्सिटी में घु’स कर लाठीचार्ज कर दिया। पुलिस के ऊपर लोगों को उकसाने से लेकर हिंसा करने तक के गंभीर आरो’प लगे हैं.

दिल्ली में कई छात्र घायल हुए तो उत्तर प्रदेश में पुलिस की गो’ली से कुछ लोगों के मा’रे जाने की भी ख़बर है. पूरे देश में दिल्ली पुलिस की बदनामी हुई है जबकि उत्तर प्रदेश में भी पुलिस का रवैया सवालों के घेरे में रहा है. परन्तु बेंगलुरु से ऐसी ख़बर आ रही है जिसने प्रदर्शनकारियों को ख़ुश कर दिया है.एक ऐसी तस्वीर वायरल हो रही है जिसके ज़रिये कहा जा रहा है कि बेंगलुरु में पुलिस विभाग के कुछ लोगों ने प्रदर्शनकारियों का सम’र्थन किया है.

एक फ़ोटो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है जिसमें कुछ पुलिस के लोग “नो NRC, नो CAA” के प्लेकार्ड लिए हुए हैं. इतना ही नहीं एक प्ले कार्ड में लिखा है कि मासूमों पर लाठीचा’र्ज हमसे नहीं हो पाएगा. बताया जा रहा है कि ये आला अफ़सर हैं जो इस प्रोटेस्ट में शामिल हुए हैं लेकिन इसकी पुष्टि अभी तक नहीं की जा सकी.बाद में पड़ताल करने पर हमें मालूम हुआ कि ये तस्वीर एडिट की गई है और सही नहीं है.

उल्लेखनीय है कि पूरे देश में नागरिकता संशोधन विधेयक के ख़ि’लाफ़ भयंकर प्रदर्शन चल रहे हैं. देश के लगभग हर शहर में छोटे या बड़े प्रदर्शन हुए हैं और लगभग हर घन्टे कहीं न कहीं प्रदर्शन हो रहा है. केंद्र सरकार समझ नहीं पा रही है कि वो लोगों को कैसे समझाए और चूंकि सरकार ने बड़ी बड़ी बातें करके इस क़ानून को अमली जामा पहनाया, इसलिए अब पीछे हटना भी उनकी साख का विषय बन गया है.

About Arghwan Rabbhi

Arghwan Rabbhi is a researcher and journalist.

View all posts by Arghwan Rabbhi →

Leave a Reply

Your email address will not be published.