कोलकाता: पश्चिम बंगाल बीजेपी में इस समय बड़ा हड़कंप मचा हुआ है। चुनाव के बाद से ही बीजेपी नेताओं और कार्यकर्तओं के पलायन का जो सिलसिला शुरू हुआ था वो अब अपने ऊफान पर है। कल ही बीजेपी के करीब 300 कार्यकर्ताओं ने टीएमसी का दामन थाम लिया है। मामला कुछ यूं है कि बंगाल के वीरभूमि में टीएमसी दफ़्तर के बाहर करीब 300 बीजेपी कार्यकर्ताओं ने टीएमसी में वापस जाने के लिए भूख हड़ताल शुरू कर दी थी।

भूख हड़ताल पर बैठे अशोक मोंडल ने बताया की “हम चाहते हैं कि हमे बीजेपी में वापस लिया जाए,हमने बीजेपी में जाकर अपने गांव का विकास रोक दिया है। बीजेपी एक साम्प्रदायिक पार्टी है जिसने हमारे मन मे ज़हर घोल दिया था”। बीजेपी को छोड़कर आये इन कार्यकर्ताओं का पहले एक एक करके गंगाजल से शुद्धिकरण किया गया। जो लगभग सुबह 8 बजे से 11 बजे तक चला। फिर इनको टीएमसी में व्यवस्थित तरीके से शामिल किया गया। इस पर अशोक मोंडल ने कहा, “बीजेपी में जाने से हमारी शांति भंग हो गयी थी ,शांति वापस लौटने के लिए पवित्र गंगा जल कार्यकर्ताओं पर छिड़का जा रहा है। ये शुद्धिकरण के लिए नही बल्कि मन के शुद्धिकरण के लिए है”।

वहीं बीजेपी का कहना है कि ये सब टीएमसी का नाटक है। इन सब चीजों को करके वो यह दिखाने की कोशिश कर रही है कि चुनाव के बाद सूबे में कोई हिंसा नही हुई है। आपको बताते चलें कि इससे पहले भी कई बीजेपी नेताओं और कार्यकर्ताओं ने बीजेपी को छोड़कर पुनः टीएमसी का दामन थाम लिया है। ऐसे नेताओं में मुकुल रॉय और उनके बेटे सुभ्रांशु रॉय का भी नाम शामिल है जिन्होंने बीजेपी छोड़कर टीएमसी में वापसी की है। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने वापस आये नेताओं और कार्यकर्ताओं का स्वागत किया है।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *