बेल्जियम में क्लास टीचर ने दिखाया ‘आ’पत्तिजनक’ कार्टून, छात्रों ने किया..

फ्रांस में आपत्ति’जनक कार्टून दिखाने की वजह से टीचर की ह’त्या का मामला अभी शांत नहीं हुआ है. इस मुद्दे को लेकर पूरी दुनिया में बहस छिड़ी हुई है. अधिकतर लोग ये मानते हैं कि ह्त्या किसी भी लिहाज़ से जायज़ नहीं ठहराई जा सकती लेकिन ‘अभिव्यक्ति की आज़ादी’ की सीमा तय होनी चाहिए. अब एक मामला बेल्जियम में आया है जहाँ पर एक स्कूल टीचर ने भी अपने क्लास में नबी पाक स्के’च छात्रों को दिखाया है जिस पर बड़ी करवाई की गई है.

बेलिजियम में हुए इस मामले में टीचर द्वारा पैग़म्बर मुहम्मद के स्केच दिखाने पर टीचर को निलंबित किया गया है. बेल्जियम के ब्रुसेल्स के एक स्कूल में पढ़ा रहा था मुलेनबेक में बड़ी संख्या में प्रवा’सियों का घर है जिसमें अधिकांश मुस्लिम लोग रहते हैं स्थानीय मीडिया के अनुसार शि’क्षक ने अपनी कक्षा में वही स्के’च बच्चों को दिखाएं जो फ्रें’च के टीचर ने दिखाए थे उसकी कक्षा में 10 से 11 साल की उम्र के बच्चे शामिल थे.

मुलेनबेक के मेयर के प्रवक्ता ने कहा कि हमारा निर्णय का’र्टून के ख’राब होने पर आधारित है अगर यह इस स्केच इस्लाम के पैगं’बर के अलावा किसी और के भी होते तो भी हमारा यही फ़ैसला होता. प्रशासन के इस फ़ैसले की तारीफ़ समूचे मुस्लिम वर्ल्ड में हो रही है वहीँ बेल्जियम के दक्षिणपंथी नेताओं को ये फ़ैसला रास नहीं आ रहा है. आपको बता दें कि समूचे विश्व में इस बात को लेकर बहस है कि क्या यूरोपीय देश इस्लामोफोबिया से ग्रस्त हैं. फ्रांस ने अपने देश के सामान का बायकाट होने के बाद से कुछ नरमी दिखाई है और अब फ़्रांसिसी सरकार मुस्लिम समुदाय तक पहुँचने की कोशिश कर रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.