बहुमत की आस लगाए भाजपा को मिला “ज़ीरो”, कांग्रेस भी हो गई हैरान..

तिरुवनंतपुरम: पांच राज्यों में हुए विधानसभा चुना’व के नतीजे रविवार को आ गए हैं। केरल में एलडीएफ ने चुनावी नतीजे आने के बाद इतिहास रच दिया है। चुनाव आयोग द्वारा घोषि’त किए गए विधानसभा चुनाव के नतीजों में लेफ्ट गठबंधन को 92 सीटों पर जीत मिली है। वहीं कांग्रेस गठबंधन को 39 सीटें मिली हैं। एनडीए इस बार राज्य में अपना खा’ता नही खोल पाई। तो वहीं अन्य के खाते में 9 सीटें गई हैं।

केरल में कुल 140 विधानसभा सीटों के लिए मतदान हुआ था। बहुम’त का आंकड़ा 71 सीटों का है। बहुमत के इस आंकड़े को एलडीएफ ने पार कर लिया है। इसलिए अब केरल में पिनराई विजयन की एक बार फिर से सरकार बनने जा रही है। एलडीएफ के खाते में बहुमत से ज़्यादा सीटें आने के बाद केरल कांग्रेस अध्यक्ष मुल्लापल्ली रामचंद्रन ने कहा कि मौजूदा मुख्यमंत्री को इतना बड़ा जनादेश मिला इसपर चिंत’न करने की आवश्यकता है।

एलडीएफ सरकार भ्र’ष्ट तौर तरीकों के लिए जानी जाती है। वहीं दूसरी तरफ पूर्व मुख्यमंत्री ओमन चांडी और विपक्ष के नेता रमेश चेन्नीथला यह सोच रहे हैं कि यूडीएफ इतनी पीछे कैसे रह गई। एलडीएफ के शानदा’र प्रदर्शन के बाद पिनराई विजयन को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बधाई दी।

उन्होंने कहा, जनकल्याणकारी नीतियों के कारण केरल की जनता ने दोबारा आप पर भरोसा जताया है। अभिनेता प्रकाश राज ने पिनराई विजयन को बधाई देते हुए कहा कि सांप्रदायि’क घृणा के ऊपर सुशासन को जीत मिली है। आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने भी केरल के मुख्यमंत्री विजयन को बधाई दी है।

केरल के वित्त मंत्री और वरिष्ठ सीपीएम नेता थॉमस इसाक ने कहा कि यह एलडीएफ की जीत को दमदा’र बताया है। उन्होंने कहा कि सीएम विजयन ने भविष्यवा’णी की थी कि एलडीएफ को 100 से ज़्यादा सीटें मिलेंगी। और बीजेपी को कोई सीट नही मिलेगी। वहीं सीपीएम महासचिव सीताराम येचुरी ने लेफ्ट की जीत जनता का आभार प्रकट किया है।

About Arghwan Rabbhi

Arghwan Rabbhi is a researcher and journalist.

View all posts by Arghwan Rabbhi →

Leave a Reply

Your email address will not be published.