असम भाजपा नेता ने माना- उनकी पार्टी को मुसलमान नहीं देते हैं वोट…

February 1, 2021 by No Comments

असम: असम में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं. ऐसे में सभी पार्टियों के नेता अपने अपने किले को मज़बूत करने में लगे हैं. लोगों को ख़ुश करने की कोशिश में कई बार नेताओं की ज़बान फिसल भी जाती है. कुछ इसी तरह का मामला असम सरकार में मंत्री और बीजेपी नेता हेमंत बिस्वा शर्मा ने कहा है. उन्होंने एक विवादित बयान दिया है.

हिमंत बिस्वा सरमा ने कहा,”मिया मुस्लिम हमें (बीजेपी) वोट नहीं देते हैं, मैं यह अनुभव के आधार पर कह रहा हूं, उन्होंने हमें पंचायत और 2014 के लोकसभा चुनाव में वोट नहीं दिया था। बीजेपी को उन सीटों पर वोट नहीं मिलेगा, जो उनके (मिया मुस्लिम) हाथों में हैं, जबकि अन्य सीटें हमारी हैं।” बिस्वा ने आगे कहा कि हालांकि हम उन सीटों पर अपने उम्मीदवारों को मैदान में उतारेंगे, ताकि ‘मिया मुस्लिम’ के साथ अपनी पहचान न रखने वाले लोगों को कमल (भाजपा का प्रतीक) या हाथी (असोम गण परिषद का प्रतीक) के लिए वोट करने का विकल्प मिल सके.


हेमंत बिस्वा शर्मा के बारे में कहा जाता है कि वो अक्सर विवादित बयान देते रहते हैं. इससे पहले शर्मा ने हिंदू समुदाय का व्यक्ति ‘जिन्ना नहीं हो सकता, क्योंकि वह कभी किसी पर ह’मला नहीं करता’ और वह धर्मनिरपेक्ष होता है। सरमा ने हिंदू बंगालियों को नागरिकता देने का भी समर्थन किया था।

इसके अलावा असम में सरकारी म’दरसे बंद करवाने में उनकी बड़ी भूमिका रही। उनका कहना था कि उनकी सरकार धार्मिक आधार पर दी जाने वाली शिक्षा के लिए सरकारी फंड्स नहीं खर्च करेगी। बता दें कि असम सरकार 614 मदरसों का संचालन करती थी। शर्मा का यह भी कहना है कि वह प्राइवेट मदरसों में भी मार्डन शिक्षा व्यवस्था लागू करेंगे।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *