अरब देशों से भारतीयों के लाने की प्रक्रिया पर काम शुरू, इस तारीख़ के बाद होगी..

नई दिल्ली: कोरोना सं’कट के चलते दुनिया के कई देशों में लॉक डाउन है. इस लॉक डाउन की वजह से ज़िन्दगी थम सी गई है, हालाँकि जानकार इस लॉक डाउन को ज़रूरी भी मानते हैं. जानकारों का मानना है कि कोरोना को रोकने के लिए लॉक डाउन भी एक कारगर चीज़ साबित हो सकती है. लॉक डाउन से बीमारी रोकने में तो फ़ायदा है लेकिन इस वजह से बहुत से लोग अपने देश से अलग फँस गए हैं. अरब देशों में भी भारत के बहुत से नागरिक हैं.

भारतीय नागरिकों को अरब देशों से कैसे वापिस देश लाया जाए इसके लिए देश की सरकार अरब देशों की सरकार के साथ मिलकर बातचीत कर रही है. ख़बर है कि खाड़ी देशों में फंसे लाखों भारतीय जल्द ही वतन वापस आ सकते हैं. खाड़ी के देशों में स्थित भारतीय दूतावासों ने वहां रह रहे लोगों की देश वापसी के लिए प्रक्रिया शुरू कर दी. इसको लेकर के व्यवस्था भी शुरू की जा चुकी है.

15 मई के बाद हो सकती है वापसी..
ऐसी ख़बर है कि 15 मई के बाद भारतीय लोगों की वापसी खाड़ी देशों(Indian in Gulf countries) से हो सकती है. सऊदी अरब और यूएई जैसे बड़े देशों के अलावा बहरीन में बसे भारतीयों के लिए वहां स्थित भारतीय दूतावासों ने व्यवस्था शुरू की है. इसके लिए सरकार नौ सेना और वायु सेना की मदद ले सकती है. उल्लेखनीय है कि खाड़ी देशों में भारत से गए लोगों की एक बड़ी जनसंख्या है लेकिन आर्थिक गतिविधियां ठप होने की वजह से वहां बसे लोगों पर आमदनी का संक’ट पैदा हो गया है.

इस सिलसिले में UAE की राजधानी अबुधाबी स्थित भारतीय दूतावास से भी वहाँ की सरकार ने डाटा एकत्रित करने की बात कही है. ऐसा इसलिए किया जा रहा है ताकि फँसे लोगों को निकालने में कोई मुश्किल न रहे और काम सुगमता से हो जाए. बता दें कि दुनिया में किसी अन्य क्षेत्र के मुक़ाबले सबसे ज़्यादा भारतीय खाड़ी देशों में रहते हैं। इनमें से अधिकतर मजदूर हैं जो लॉकडाउन के चलते वहां फंस गए हैं।

About Arghwan Rabbhi

Arghwan Rabbhi is a researcher and journalist.

View all posts by Arghwan Rabbhi →

Leave a Reply

Your email address will not be published.