अरब देश पर क़ब्ज़ा करने की कोशिश में फ़्रांस?, तुर्की ने फटकारते हुए कहा..

September 4, 2020 by No Comments

अंकारा: तुर्की और ग्रीस के रिश्ते पिछले दिनों काफ़ी ख़राब हो गए हैं. स्थिति बेहतर हो इसके लिए कुछ देशों ने कोशिशें भी करनी शुरू कर दी हैं, इस कोशिश में सबसे आगे नाटो है. ग्रीस से अपने बिगड़ते रिश्तों को लेकर तुर्की ने ग्रीस की सरकार के साथ-साथ फ्रांस पर भी निशाना साधा है. तुर्की के विदेश मंत्री मेव्लुत जवूसोग्लू ने तुर्की की राजधानी अंकारा में एक भाषण के दौरान कहा कि तुर्की के ख़िलाफ़ ग्रीस को कौन भड़का रहा है? फ़्रांस.

उन्होंने कहा कि लेकिन इसका एक और अजेंडा है.. जब इनके(फ्रांस) सीरिया में एक आतंकी राज्य को स्थापित करने में कामयाबी नहीं मिली तो ये तुर्की के ख़िलाफ़ ग़लत व्यवहार कर रहा है. उन्होंने कहा कि क्या आतंकवाद के ख़िलाफ़ लड़ाई लड़ने के लिए फ़्रांस की इजाज़त लेनी होगी? उन्होंने फ़्रांस के राष्ट्रपति इमानुअल मक्रों की उस मीटिंग का ज़िक्र किया जो उन्होंने पेरिस में YPG/PKK के नेताओं के साथ की है. आपको बता दें कि तुर्की YPG/PKK को आतंकी संगठन मानता है.

उल्लेखनीय है कि पिछले कुछ महीनों में फ़्रांस ने पश्चिम एशिया के क्षेत्र में ख़ासी दिलचस्पी दिखाई है. फ़्रांसिसी राष्ट्रपति ने तो कुछ ऐसे बयान दिए हैं जिसको सुनकर वैश्विक स्तर पर बहस शुरू हो गई है. असल में फ़्रांस ने लेबनान में हुए विस्फोट के बाद देश की मदद की पेशकश तो की लेकिन अंदाज़ ऐसा था जैसे वो देश के मालिक हों. उनके इस व्यवहार की अरब जगत में काफ़ी आलोचना हुई है. फ़्रांस के नेताओं ने अपने बयान में यहाँ तक कह दिया कि अगर लेबनान ने रिफार्म लागू नहीं किया तो लेबनान राजनीतिक नक़्शे से ग़ायब हो सकता है. इस बयान पर अरब जगत के साथ साथ तुर्की भी काफ़ी नाराज़ नज़र आया है.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *