अपने पिता की क़’ब्र पर फूल च’ढ़ाने के बाद छलका सिराज का द’र्द,”उन्होंने मुझे गा’लियाँ दीं लेकिन मैं..”

January 22, 2021 by No Comments

भारतीय क्रिकेट टीम ने इस बार ऑस्ट्रेलिया दुआरे पर जो कामयाबी हासिल की उसके चर्चे थम नहीं रहे हैं. इस कामयाबी में टीम के नए खिलाड़ियों का बड़ा हाथ रहा. गुरुवार के रोज़ टीम वापिस स्वदेश आ गई. टेस्ट सीरीज़ को भारत ने 2-1 से जीता. पहला टेस्ट हारने के बाद भारत ने शानदार वापसी की और सीरीज़ अपने नाम कर ली. गेंदबाज़ मुहम्मद सिराज की भी ख़ासी तारीफ़ हो रही है. उन्होंने आख़िरी टेस्ट में शानदार खेल दिखाया.

ये सीरीज़ खेल के लिहाज़ से तो चर्चा में ही रही लेकिन ऑस्ट्रेलिया और भारत के खिलाड़ियों के बीच जो नोक-झोंक हुई उसने भी लोगों का ध्यान खींचा. इस सिरीज़ के दौरान एक ऐसी घटना हुई जिसकी वजह से खेल शर्मसार हुआ. मुहम्मद सिराज को भीड़ में कुछ लोगों ने गालियाँ दीं. इस घटना को लेकर सिराज ने कहा सिडनी टेस्ट में ऑस्ट्रेलियाई भीड़ ने मुझे गाली देनी शुरू की थी लेकिन इस वजह से मैं मानसिक तौर पर मज़बूत हुआ हूँ.

सिराज एअरपोर्ट से सीधे अपने पिता की क़ब्र पर गए और वहाँ फूल चढ़ाए. बाद में एक प्रेस वार्ता के दौरान उन्होंने कहा,”सिडनी टेस्ट में ऑस्ट्रेलियाई भीड़ ने मुझे गा’ली देनी शुरू कर दी. लेकिन इसने मुझे मानसिक रूप से मजबूत ही बनाया. मेरी मुख्य चिंता थी कि इससे मेरे प्रदर्शन में गिरावट नहीं आनी चाहिए. मेरा काम अपने कप्तान को सूचित करना था कि मेरे साथ दुर्व्यवहार किया जा रहा है. मैंने ऐसा किया.”

सिराज ने आगे कहा,”मैंने अपने कप्तान से बताया और उन्होंने अंपायरों को सूचना दी. अंपायरों ने हमसे कहा कि यदि हम चाहें तो मैच बीच में छोड़कर बाहर जा सकते हैं. लेकिन अजिंक्य रहाणे ने कहा कि हम मैदान नहीं छोड़ेंगे. हम खेल का सम्मान करेंगे और ऐसे माहौल में भी डटकर खेलेंगे.” मोहम्मद सिराज ने कहा,”यह वक्त मेरे लिए मुश्किल और मानसिक रूप से निराशाजनक था. जब मैंने घर वालों से फोन पर बात की तो उन्होंने मुझे पिताजी के सपने को पूरा करने के लिए कहा. मेरी मंगेतर ने भी मुझे प्रेरित किया. मेरी टीम ने भी मेरा पूरा समर्थन किया. मैंने अपने सभी विकेट उन्हें (पिता) समर्पित कर दिए. मयंक अग्रवाल के साथ मेरा जश्न उन्हें समर्पित था.”

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *