नई दिल्ली: हाल ही में भाजपा की पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में बड़ी हार हुई. पार्टी दावे कर रही थी कि वो 200 से अधिक सीटें जीतेगी लेकिन ऐसा न हो सका और ये 100 के अन्दर ही सिमट गई. भाजपा के शीर्ष नेतृत्व को इसका बड़ा झटका लगा है. वहीं भाजपा सरकार की आलोचना कोरोना की दूसरी लहर को भांपने में देरी करने की वजह से भी हो रही है. साथ ही देश में अलग-अलग जगह मेडिकल सुविधाओं में आ रही कमी के पीछे भी भाजपा सरकार की नीतियों को निशाना बनाया जा रहा है.

चौतरफ़ा आलोचना झेल रही पार्टी अब कोशिश में है कि आम लोगों से जनसंपर्क बनाया जाए. भाजपा इस खामी को दूर करने की कवायद में जुट गई है. बीजेपी शासित सभी राज्यों को पत्र लिखते हुए जेपी नड्डा ने कहा कि 30 मई को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार के 7 साल पूरे होने पर किसी भी कार्यक्रम या जश्न से बचा जाए.

भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा कि भाजपा कार्यकर्ता खुद को समाज की सेवा के प्रति समर्पित करें. उन्होंने कहा कि हमें जनता का आभारी होना चाहिए, जिसने हमें सात साल सेवा करने का मौका दिया. बीजेपी शासित राज्य 7वीं वर्षगांठ के मौके पर एक योजना लांच करेंगे, ताकि कोरोना की दूसरी लहर के दौरान अनाथ हुए बच्चों की मदद की जा सके. इसका ब्योरा जल्द ही सार्वजनिक किया जाएगा.

समाचार एजेंसी पीटीआई की एक रिपोर्ट के मुताबिक़,”नड्डा ने कहा, जिन बच्चों ने कोरोनाकाल में अपने दोनों अभिभावकों को खो दिया है, उनके साथ खड़े हों और उनके सुरक्षित भविष्य के लिए सभी जरूरी मदद पहुंचाना हमारी जिम्मेदारी है…विचार है कि सभी बीजेपीशासित राज्य एक साथ कार्यक्रम लांच करे, जब बीजेपी की केंद्र सरकार के 7 साल पूरे हों.”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *