मध्य प्रदेश के इंदौर से एक दुखभरी ख़बर आ रही है. यहाँ एक दो-मंज़िला इमारत में आग लग गई जिसकी वजह से सात लोगों को अपनी जान से हाथ धोना पड़ा. इस इमारत में कुछ छात्र रह रहे थे जबकि कुछ यहाँ नौकरी के चलते रह रहे थे. मरने वालों में पैंतालीस वर्षीय ईश्वर सिंह सिसौदिया और उनकी पैंतालीस वर्षीय पत्नी नीतू सिसौदिया भी थे. पति-पत्नी सामने की इमारत में रहते थे लेकिन अपने घर में नया निर्माण कराने की वजह से यहाँ रह रहे थे.

इंदौर के विजय नगर इलाक़े में ये हादसा देर रात हुआ. यहां की स्वर्ण बाग़ कॉलोनी में देर रात आग लग गई. लोकल मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़ इमारत की पार्किंग में आग शॉर्ट सर्किट से लगी. उसके बाद आग ने कुछ गाड़ियों को अपनी चपेट में ले लिया. कुछ ही देर में उसकी लपटों ने विकराल रूप ले लिया और पूरी इमारत को अपनी चपेट में ले लिया. जब तक कोई कुछ समझ पाता, तब तक उनकी हालत गंभीर हो चुकी थी.

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने हादसे पर शोक व्यक्त किया और मृतकों के परिजनों को 4-4 लाख रुपये देने की घोषणा भी की. सीएम ने ट्वीट किया- इंदौर में आग लगने की घटना में मौत की खबर अत्यंत ह्रदय विदारक है. मैंने इसके जांच के आदेश दे दिए हैं. जिसकी भी लापरवाही सामने आएगी, उसके विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की जाएगी. मृतकों के परिजनों को 4-4 लाख रुपए दिए जाएंगे.

By Arghwan Rabbhi

Arghwan Rabbhi is a researcher and journalist.

Leave a Reply

Your email address will not be published.