गृहमंत्री अमित शाह गुरुवार के दिन अनंतनाग पहुँचे यहाँ आने का कारण था गत 12 जून को हुए आतं’की हमले में आतं’कवादि’यों को मुँहतोड़ जावाब देते हुए पुलि’स निरी’क्ष’क अरशद खान उनकी गो’लियों के शि’कार हो गए थे और उप’चार के दौरान वी’रगति को प्राप्त हुए। अमित शाह अधिकारियों के साथ शहर के सिविल लाइन्स इलाके के पास बाल गॉर्डन स्थित खान के आवास पर पहुंचे और परिवार के लोगों से मुलाकात कर उन्हें आश्वासन किया कि केंद्र सरकार उनका पूरा ध्यान रखेगी।

अमित शाह ने उनके पिता मुश्ताक अहमद खान और माता महबूबा बेगम के अलावा उनकी पत्नी,भाई और बच्चों उहबान (5 वर्ष) और दामीन (18 माह) से मुलाकात की। बैठक में मौजूद रहे खान के एक रिश्तेदार ने बताया कि गृह मंत्री अमित शाह ने संवेदना प्रकट की और आश्वासन दिया कि सरकार देश के बहा’दुर बेटे के परिवार का ख्याल रखेगी।

Amit Shah

एक आधिकारिक प्रवक्ता ने बताया कि केंद्रीय गृह मंत्री ने खान की पत्नी को राज्य सरकार में नौकरी का नियुक्ति पत्र भी सौंपा। शाह ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर कहा, “राष्ट्र की सुरक्षा के लिए ब’लिदा’न ने कई जान बचाई हैं। पूरे राष्ट्र को अरशद खान के साहस पर गर्व है.”12 जून के आ’तंकवा’दी हम’ले में 37 साल के खान घा’यल हो गए थे जिन्हें बाद में विशेष उपचा’र के लिए दिल्ली लाया गया था, हालांकि अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में इलाज के दौरान उनकी मौ’त हो गई थी.

बता दें कि इस आतं-कवादी ह’मले में सीआरपीएफ के पांच जवान शही’द हो गए थे। जैश-ए-मोहम्मद के एक आ’तंक’वादी ने अर्द्धसैनिक ब’ल के गश्ती दल पर ह’मला कर दिया था.अनंतनाग में सदर पुलिस थाने के थाना प्रभारी खान ह’मले के तुरंत बाद घट’ना’स्थल पर पहुंचे थे.

Arshad Khan

अधिकारियों से पता चला कि ख़ान अपनी बुलेटप्रूफ़ वहाँ से सर्विस राय’फल लेकर आतं’कवादि’यों से भि’ड़ने के लिए निकले कि आ’तंकवा’दी ने उन पर धुआँधार गो’लियों की बौछार कर दी। इसी दौरान एक गो’ली उनकी सर्विस राइफल से टकरा कर उन्हें लगी। लेकिन इसके बाद भी अरशद खान रुके नहीं और लगातार आ’तंकवा’दी पर गोलि’यां बरसाते रहे, घा’यल होने के कारण कुछ वक़्त में वो धराशायी हो गए और बाद में इ’लाज के दौरान शही’द हो गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *