उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद इसके आँकड़ों पर बहस तेज़ हो गई है। यूँ तो चुनाव में भाजपा गठबंधन ने भारी जीत दर्ज की लेकिन पोस्टल बैलेट्स में सपा गठबंधन ही आगे रहा।

पोस्टल बैलेट में सपा गठबंधन को 304 सीटों पर बढ़त है। इसको लेकर सपा नेता स्वामी प्रसाद मौर्या ने बयान दिया था कि इतना अंतर EVM और पोस्टल बैलेट में कैसे है?ये सोचने का विषय है।

आज इस पर सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने बयान दिया है। अखिलेश यादव ने एक सोशल मीडिया पोस्ट लिखकर बताया कि पोस्टल बैलेट में सपा गठबंधन को 304 सीटों पर जीत मिली।



उन्होंने अपनी पोस्ट में कहा,”पोस्टल बैलेट में सपा-गठबंधन को मिले 51.5% वोट व उनके हिसाब से 304 सीटों पर हुई सपा-गठबंधन की जीत चुनाव का सच बयान कर रही है।

पोस्टल बैलेट डालनेवाले हर उस सच्चे सरकारीकर्मी, शिक्षक और मतदाता का धन्यवाद जिसने पूरी ईमानदारी से हमें वोट दिया। सत्ताधारी याद रखें, छल से बल नहीं मिलता!”

इसके पहले सपा के क़द्दावर नेता स्वामी प्रसाद मौर्या ने कहा कि बैलेट पेपर की वोटिंग में सपा 300 से अधिक सीटें जीती लेकिन EVM में भाजपा की जीत हुई। उन्होंने दावा किया कि किसी प्रकार की धाँधली चुनाव में हुई है।



उन्होंने कहा,”बैलेट पेपर की वोटिंग में समाजवादी पार्टी 304 सीटों पर जीती है, जबकि भाजपा मात्र 99 पर। किंतु ईवीएम की गिनती में भाजपा चुनाव जीती, इसका मतलब है कोई न कोई बड़ा खेल हुआ है।”

इस चुनाव में भाजपा गठबंधन को 273 सीटों पर जीत मिली जबकि सपा गठबंधन को 125 सीटों पर ही कामयाबी मिली। वहीं पोस्टल बैलेट के समीकरण पूरी तरह अलग थे, पोस्टल बैलेट में सपा गठबंधन 304 और भाजपा गठबंधन 99 सीटों पर ही आगे रहा।

By Arghwan Rabbhi

Arghwan Rabbhi is a researcher and journalist.

Leave a Reply

Your email address will not be published.