लखनऊ: उत्तर प्रदेश में 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर राजनीतिक गलियारों में हलचलें तेज़ है। सभी राजनीतिक दल अपने अपने समीकरण मज़बूत करने में लगे हैं। पिछले चुनाव से सबक लेते हुए राजनीतिक दल आने वाले विधानसभा चुनाव में नई कौड़ी का इस्तेमाल करने की सोच रहे हैं। योगी आदित्यनाथ की सरकार को यूपी की सत्ता से बाहर करने के लिए वि’पक्षी दल दां’व पेंच ल’ड़ा रहे हैं। हाल फिलहाल की यूपी में चल रही सियासत की बात करें तो बहुजन समाज पार्टी की सुप्रीमों मायावती पहले ही एलान कर चुकीं हैं कि बीएसपी किसी राजनीतिक दल के साथ गठबंधन नही करेगी।

दूसरी तरफ अब समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने गठबंधन को लेकर स्थिति साफ कर दी है। अखिलेश यादव ने एलान किया है कि समाजवादी पार्टी छोटे दलों के साथ गठबंधन करेगी। अखिलेश यादव ने गुरुवार को अपने जन्मदिन के दिन मीडिया से बात करते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश के लोग परिवर्तन के लिए वोट करेंगे क्योंकि वो बदलाव चाहते हैं। बीजेपी की सरकार को गरीब जनता की कोई फिक्र नही। बीजेपी की सरकार मुद्दों पर बात नही करना चाहती।

बीजेपी ने जनता के साथ धो’खा किया है। पार्टी ने घोषणापत्र को कूड़े के डिब्बे में फेंक दिया है। योगी आदित्यनाथ ने राज्य में अधिकारियों को मनमाने ढंग से काम करने की छूट दी हुई है। अखिलेश यादव ने उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव को लोकतांत्रिक क्रांति होगी बताया। इसके साथ ही अखिलेश यादव ने कहा कि समाजवादी पार्टी कुल 403 विधानसभा सीटों में से 350 जीतकर आएगी। क्योंकि राज्य की आम जनता बीजेपी की सरकार से काफी प’रेशान है।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *