अफ़्रीका के इस देश में ब’लात्का’र से आ’तंक, सरकार ने लगा दी..

September 13, 2020 by No Comments

मोनरोविआ: अफ़्रीका के पश्चिमी कोस्ट पर स्थित लाइबेरिया में पिछले कुछ महीनों में बला’त्कार की घट’नाएँ इस तेज़ी से बढ़ी हैं कि लोगों को इसके ख़ि’लाफ़ सड़क पर उतरना पड़ा. पिछले दिनों राजधानी मोनरोविआ में बड़े स्तर पर प्र’दर्शन हुए जिसमें माँग की गई कि इन घट’नाओं को रोकने के लिए सरकार विशेष नीति बनाये. सरकार ने प्रोटेस्ट करने वाले नेताओं को आश्वासन दिया था कि वो इसको रो’कने के लिए कड़े क़’दम उठाएगी. इसी सिलसिले में सरकार ने एक बड़ा फ़ैस’ला लिया है.

लाइबेरिया के राष्ट्रपति जॉर्ज वेह ने बला’त्कार को राष्ट्रीय इमरजें’सी घोषित कर दिया है. इसको रोकने के लिए सरकार अप्रत्याशित क़’दम उठाने को तैयार है. जुमे के रोज़ वेह ने कहा था कि लाइबेरिया में एक स्पेशल प्रासीक्यूटर नियुक्त किया जाएगा जो इस तरह के मामलों पर कार्यवाई करने में मदद करे. सरकार ने घोषणा की है कि वो “नेशनल सि’क्यूरिटी टास्क फ़ोर्स” को बनाएगी जो से’क्सुअल और जें’डर सम्बंधित हिं’सा को रोकने का काम करेगी.

लाइबेरिया में ब’लात्कार की घट’नाएँ पहले भी अधिक होती थीं लेकिन पिछले दिनों ये आँकड़ा बु’री तरह से बढ़ा है. 2016 में संयुक्त राष्ट्र की एक रिपोर्ट के मुताबिक़ 45 लाख की आबादी वाले इस देश में 803 बला’त्कार के केसेस सामने आये जिसमें से सिर्फ़ 2% मामलों में ही मुजरिम को स’ज़ा मिल सकी. एक रिपोर्ट के मुताबिक़ इस साल बला’त्कार की घटनाएँ बहुत तेज़ी से बढ़ी है.लाइबेरिया वी’मेन एम्पोवेर्मेंट नेटवर्क की डायरेक्टर मार्गरेट टेलर ने बताया कि जून और अगस्त के बीच 600 बला’त्कार की घट’नाएँ रिकॉर्ड की गईं जबकि मई में ये आँक’ड़ा 80 और 100 के बीच था.

फुटबॉलर से राजनीति में आये लाइबेरिया के राष्ट्रपति ने कहा कि कोरोनावायरस पा’न्डेमिक के बीच बलात्का’र की एपि’डेमिक भी देश झे’ल रहा है जो ख़ासतौर से बच्चों और कम उम्र की बच्चों को शिकार बना रहा है.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *