कोरोना संक्रमित होने के बाद आज़म ख़ान की तबीअत बिगड़ी, बेटे के साथ अब..

May 9, 2021 by No Comments

सीतापुर. समाजवादी पार्टी के सांसद आज़म ख़ान की तबीअत अचानक ख़राब हो गई है. इस सिलसिले में ख़बर है कि उनको लखनऊ के मेदान्ता अस्पताल में जल्द शिफ्ट किया गया है. 1 मई को क़द्दावर नेता की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आयी थी. सीतापुर जेल में बंद आजम खान को ले जाने के लिए एंबुलेंस और स्कॉट का बंदोबस्त किया गया. मौके पर एएसपी, एसडीएम सदर सहित सीओ सिटी जिला कारागार पर मौजूद रहे. आज़म और उनके बेटे अब्दुल्ला आज़म ख़ान दोनों सीतापुर जेल में बंद हैं, दोनों को फ़ौरन लखनऊ के मेदान्ता अस्पताल में शिफ्ट किया गया है. अब्दुल्ला आज़म भी कोरोना संक्रमित टेस्ट हुए थे.

पिछले एक साल से ज्यादा समय से आजम खान सीतापुर जेल (Sitapur Jail) में निरुद्ध हैं. सीतापुर जेल प्रशासन ने दो दिन पहले ही उनका कोविड टेस्ट कराया था. कोविड टेस्ट रिपोर्ट में आजम खान सहित जेल में 13 बंदी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं. बता दें आजम खान की विधायक पत्नी तजीन फातमा को कुछ दिनों पहले ही जमानत मिल गई थी. लेकिन, आजम खान और अब्दुल्ला आजम का इंतजार लम्बा होता जा रहा है.

आजम के ऊपर 80 से ज्यादा मुकदमें दर्ज है, जबकि अब्दुल्ला के ऊपर 40 से ज्यादा केस दर्ज हैं. जानकारी के अनुसार अधिकतर मामलों में उन्हें जमानत मिल चुकी है, अब कुछ मुकदमों में ही जमानत मिलनी बाकी है. हालाँकि आज़म के ख़िलाफ़ ये सभी मामले धोखाधड़ी से सम्बंधित हैं जिसको लेकर सपा का दावा है कि भाजपा सरकार ने आज़म को फंसाने के लिए ये मामले ख़ुद तैयार किए हैं.

बीते साल 26 फरवरी 2020 को आजम खान, उनकी पत्नी तजीन फातमा और बेटे अब्दुल्ला आजम ने रामपुर की अदालत में आत्मसमर्पण किया था. तीनों के ऊपर दस्तावेजों में हेराफेरी करके फर्जी पैन कार्ड और पासपोर्ट बनवाने का साल 2019 में मुकदमा दर्ज हुआ था. इस मुकदमे में अदालत द्वारा बार-बार बुलाने के बावजूद वे हाजिर नहीं हो रहे थे. लिहाजा कोर्ट ने गैर जमानती वारंट जारी कर दिया.

NBW जारी होने के बाद तीनों ने अदालत में आत्मसमर्पण किया और जमानत मांगी लेकिन, अदालत ने उन्हें रामपुर की जिला जेल भेज दिया. 27 फरवरी को तीनों को सीतापुर जेल में शिफ्ट किया गया. दिसंबर, 2020 में उनकी पत्नी और रामपुर सदर से सपा विधायक तजीन फातमा को जमानत मिल गयी थी. वे बाहर हैं लेकिन, आजम खान और उनके बेटे को अभी जमानत का इंतजार है.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *