अबू धाबी में इस खिलाड़ी ने किया कमाल, KKR को अब पड़ रहा होगा सोचना..

खेल दुनिया

अबू धाबी: UAE की राष्ट्रीय टीम भले ही इतनी मज़बूत न हो लेकिन देश में क्रिकेट को लेकर हमेशा सकारात्मक चर्चा रहती है. इस समय अबू धाबी में टी10 प्रतियोगिता चल रही है तो चर्चा इस टूर्नामेंट की भी है. इस टूर्नामेंट में मराठा अरेबियंस की तरफ़ से बल्लेबाज़ी करने उतरे क्रिस लिन ने अपनी बल्लेबाज़ी के वो जौहर दिखाए, कि हर कोई उनकी इस विस्फ़ोटक बल्लेबाज़ी का मुरीद हो गया। बता दें कि क्रिस लिन वही बल्लेबाज़ हैं जो आईपीएल में केकेआर की टीम से खेलते थे।

उन्हें केकेआर से बाहर कर दिया गया था। लेकिन अब उनकी इस बल्लेबाज़ी को देखकर, केकेआर के शाहरुख़ ख़ान अपने फ़ैसले पर शर्तिया पछता रहे होंगे। क्रिस लिन जो ऑस्ट्रेलिया के बल्लेबाज़ हैं, और T10 श्रृंखला में मराठा अरेबियंस की कप्तानी कर रहे हैं। उन्होंने मराठा अरेबियंस की तरफ से आबू धाबी की टीम के ख़िलाफ़ 30 गेंदों पर 91 रन ठोंक दिए। क्रिस ने 18 गेंदों पर अपना अर्धशतक पूरा कर लिया था। उन्होंने अपनी पारी के दौरान 9 चौके और 7 छक्के लगाए थे।

क्रिकेट के T10 फॉर्मेट में यह किसी भी बल्लेबाज़ की तरफ से बनाया गया अब तक का उच्चतम स्कोर है। इस दौरान उनका स्ट्राइक रेट 303.33 रहा। पहले यह रिकॉर्ड इंग्लैंड के एलेक्स हेल्स के नाम दर्ज था। हेल्स ने अबू धाबी में T10 लीग के पिछले सीज़न में 31 गेंदों में 87 रन की पारी खेली थी। ग़ौरतलब है कि हेल्स ने भी मराठा अरेबियंस की तरफ से खेलते हुए यह रिकॉर्ड बनाया था। यह क्रिस लिन की धमाकेदार पारी का ही नतीजा था कि, मराठा अरेबियंस ने 10 ओवर में दो विकेट पर 138 रन बनाए।

लक्ष्य का पीछा करने वाली आबू धाबी टीम 10 ओवर में 3 विकेट पर 114 रन ही बना सकी। क्रिस लिन की ऐसी विस्फोटक और धुआंधार पारी को देखकर उनके साथ मराठा अरेबियंस में खेल रहे युवराज सिंह ने शाहरुख़ ख़ान के लिन को केकेआर में ना लेने के फ़ैसले पर तंज कसते हुए कहा है कि, क्रिस लिन ने आज असाधारण खेल दिखाया है। ये वही यह वही खिलाड़ी है, जिसे मैंने आईपीएल में खेलते हुए देखा है। उन्होंने कुछ मैचों में केकेआर को बेहतरीन शुरुआत दी थी। वास्तव में मुझे समझ में नहीं आया कि उन्होंने (केकेआर) लिन को टीम में क्यों नहीं रखा। मुझे लगता है कि वह एक ख़राब फ़ैसला था।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *