अब तेजस्वी यादव ने भी EVM के ख़िलाफ़ खोला मोर्चा, ‘चुनाव आयोग ने ख़ुद करवाई धाँधली’

April 2, 2021 by No Comments

नई दिल्ली: असम विधानसभा चुनाव के दौरान भाजपा प्रत्याशी की गाड़ी से EVM मिलने का मुद्दा आज पूरे दिन छाया रहा. चुनाव आयोग भी विपक्ष के आरोपों के बाद दबाव में दिखा वहीं विपक्ष की आक्रामकता से भाजपा भी हैरान नज़र आ रही है. विपक्ष चुनाव की निष्पक्षता पर सवाल खड़े कर रहा है और आरोप लगा रहा है कि भाजपा चुनाव में धाँधली कर रही है.

कांग्रेस ने तो यहाँ तक कह दिया कि अगर आयोग निष्पक्ष चुनाव कराने के लिए ज़रूरी क़दम नहीं उठाता तो वो चुनाव का बायकाट कर देंगे. चुनाव आयोग ने इस मामले की गंभीरता को समझते हुए एक्शन लिया है और अपने अधिकारियों पर त्वरित कार्यवाई की है और साथ ही जहाँ का मामला है उस पोलिंग बूथ पर दुबारा चुनाव कराने की घोषणा कर दी है.

बिहार में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने भी चुनाव की निष्पक्षता पर सवाल उठाया है. राजद नेता ने आरोप लगाया है कि बिहार में भी चुनाव आयोग ने भाजपा और जदयू के इशारे पर धांधली की थी. तेजस्वी यादव ने चुनाव आयोग की निष्पक्षता को कठघरे में खड़ा करते हुए ECI यानी इलेक्शन कमीशन ऑफ इंडिया को Extinct Credibility Commission of India यानी विलुप्त साख आयोग नाम दिया है. तेजस्वी यादव ने कहा है कि चुनाव आयोग की साख समाप्त हो चुकी है.

तेजस्वी ने ट्वीटर पर लिखा है कि बिहार विधानसभा चुनाव के दौरान खुद चुनाव आयोग ने धांधली की। बिहार विधानसभा चुनाव में चुनाव आयोग ने भाजपा और जदयू के इशारे पर नौकरशाही के साथ मिलकर परिणामों में हेरफेर कर दिया। वहीं भाजपा पर प्रहार करते हुए तेजस्वी यादव ने कहा कि भाजपा को चाहिए कि वो इस शो को पर्दे के पीछे से चलाने की बजाय सामने आए और चुनाव आयोग का कामकाज खुद संभाल ले।

असम में वोटिंग में इस्तेमाल हुई EVM के एक प्राइवेट कार में मिलने के बाद हड़कंप मच गया है. ये कार भाजपा के उम्मीदवार की है और ऐसे में कांग्रेस और बाक़ी विपक्षी दल गंभीर सवाल पूछ रहे हैं. चुनाव आयोग ने इसको देखते हुए पोलिंग बूथ पर फिर से चुनाव कराने का एलान कर दिया है. चुनाव आयोग ने आज इस सिलसिले में बयान दिया कि निरीक्षण के बाद पाया गया कि BU,CU और VVPAT सील के साथ पाए गए हैं और उनके साथ कोई छेड़छाड़ नहीं हो पी है..सभी आइटम को स्ट्रोंग रूम में रखा गया है.

चुनाव आयोग ने कहा कि प्रेसिडिंग ऑफिसर को शो काज़ नोटिस दिया गया है. PO और तीन अन्य अधिकारियों को बर्ख़ास्त कर दिया गया है. आयोग ने माना है कि ट्रांसपोर्ट प्रोटोकॉल का उल्लंघन हुआ है. हालाँकि EVM की सील नहीं टूटी है लेकिन पोलिंग बूथ संख्या 149 (LAC1 रताबरी -SC के इंदिरा MV स्कूल) पर फिर से वोटिंग कराई जाएगी.


आपको बता दें कि असम में दूसरे चरण का मतदान समाप्त होने के साथ ही एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया. सोशल मीडिया पर वायरल इस वीडियो में एक प्राइवेट कार से वोटिंग में इस्तेमाल हुई EVM मिली है. ये वीडियो असम के स्थानीय पत्रकार अतानू भूयान ने अपने ट्विटर हैंडल से पोस्ट किया है. उन्होंने इसके कैप्शन में लिखा है कि भाजपा उम्मीदवार कृष्णेंदु पाल की कार से EVM मिलने के बाद स्थिति तनावपूर्ण है. <

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *