आधी रात में आदित्य ठाकरे ने किया होटल का रुख़, कांग्रेस भी अपने विधायकों को..

महाराष्ट्र चुनावों के नतीजे आने के बाद से ही सत्ता को लेकर कोई एक राय नहीं बन पा रही है और हर बीतते दिन के साथ कोई न कोई नयी ख़बर आ रही है। अब तक इस बात पर ससपेंस बना हुआ है कि भाजपा सरकार बना पाएगी या नहीं। जहाँ भाजपा सरकार बनाने के लिए ज़ोर लगा रही है वहीं सहयोगी पार्टी शिवसेना इस बार मुख्यमंत्री पद पर आदित्य ठाकरे को देखने के लिए आतुर है।

इस उथल- पुथल में जहाँ दूसरी पार्टी भी इस समीकरण में सरकार बनाने की कोशिस कर रही है। इन परिस्थितियों में शिवसेना ने अपने सभी विधायकों को एक होटल में ठहराया है। बांद्रा में स्थित इस होटल से शिवसेना मुख्यालय मातोश्री की दूरी कुछ 2-3 किलोमीटर के क़रीब है लेकिन भाजपा और शिवसेना के बीच दूरी लगातार बढ़ती नज़र आ रही है।

ऐसे में अभी ख़बर आयी है कि आदित्य ठाकरे अपने विधायकों से मिलने होटल रंगशारदा पहुँचे हैं।इस मुलाक़ात को लेकर बड़ी बातें कही जा रही हैं। वहीं ख़बरें ये भी हैं कि पिछले कई दिनों से शिवसेना के उद्धव ठाकरे ने भाजपा के किसी भी व्यक्ति से बात करने में कोई दिलचस्पी नहीं दिखायी है। यहाँ तक कि उनके घर में किए जा रहे फ़ोन पर भी वो उपस्थित नहीं हो रहे हैं। अगर जल्द ही सरकार बनाने पर फ़ैसला नहीं लिया जाता है तो यहाँ राष्ट्रपति शासन लग सकता है जो कोई भी पार्टी नहीं चाहती।

उल्लेखनीय है कि महाराष्ट्र विधानसभा का कार्यकाल 10 नवम्बर को पूरा हो रहा है.इसके पहले अगर सरकार का गठन नहीं होता है तो राज्य में राष्ट्रपति शासन लग जाएगा. इस बीच ख़बर है कि कांग्रेस भी अपने विधायकों को जयपुर में शिफ्ट कर सकती है. इसका अर्थ ये भी निकल रहा है कि भाजपा अब शिवसेना को सहयोगी न मानकर सरकार बनाने की जोड़तोड़ करेगी वहीँ एनसीपी-कांग्रेस पूरी तरह से सरकार बनाने को लेकर तैयारी कर रहे हैं.

About Arghwan Rabbhi

Arghwan Rabbhi is a researcher and journalist.

View all posts by Arghwan Rabbhi →

Leave a Reply

Your email address will not be published.