24 साल के शानदार करीयर को वसीम जाफ़र ने कहा अलविदा,’मेरे पिता का सपना..’

March 7, 2020 by No Comments

मुम्बई: भारतीय क्रिकेट के दिग्गजों में शुमार किए जाने वाले क्रिकेट खिलाड़ी वसीम जाफ़र ने खेल से संन्यास ले लिया है. उन्होंने प्रथम श्रेणी क्रिकेट में 20 हज़ार से भी अधिक रन बनाये. वो भारतीय राष्ट्रीय टीम के लिए भी खेल चुके हैं. उनका घरेलु क्रिकेट में वो योगदान रहा है कि उन्हें घरेलु क्रिकेट का सचिन भी कहते हैं. लम्बे क्रिकेट करीयर के बाद वसीम ने क्रिकेट से संन्यास ले लिया है. वसीम ने इस मौक़े पर कहा,”मेरे पिता चाहते थे कि उनका बेटा एक दिन देश की टीम का प्रतिनिधित्व करे और मैं गर्व महसूस करता हूं कि मैंने उनके सपने को पूरा किया।”

जाफ़र ने इसके अतिरिक्त कहा, “मैं बीसीसीआइ, मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन और विदर्भ क्रिकेट एसोसिएशन को धन्यवाद कहना चाहता हूं, जिन्होंने मुझे प्रतिनिधित्व करने का मौका दिया। मेरे लिए सम्मान और गर्व की बात है कि मैंने राहुल द्रविड़, सौरव गांगुली, अनिल कुंबले, वीवीएस लक्ष्मण, वीरेंद्र सहवाग और एमएस धौनी जैसे खिलाड़ियों के साथ ड्रेसिंग रूम शेयर किया।” आपको बता दें कि जाफ़र ने अपना पहला क्रिकेट टेस्ट मैच सन 2000 में खेला था.

इसके बाद से साल 2008 तक उन्होंने कुल 31 टेस्ट मैचों में भारतीय टीम का प्रतिनिधित्व किया, जिनमें 34.10 के औसत से 1944 रन बनाए, जिसमें 5 शतक और 11 अर्धशतक शामिल थे। जाफ़र ने दो एक दिवसीय मैच भी खेले. उन्होंने इन दोनों मैचों में बल्लेबाज़ी से कोई ख़ास खेल नहीं दिखाया लेकिन ऐसा माना जाता है कि उन्हें और मौक़े मिलते तो वो ज़रूर अच्छा प्रदर्शन करते. वसीम ने लगातार 24 साल प्रथम श्रेणी क्रिकेट खेली है.

42 साल के वसीम जाफर ने रणजी ट्रॉफी 2019-20 के सीजन में भी कई मैचों में हिस्सा लिया था। वसीम ने 260 फर्स्ट क्लास मैच खेले हैं, जिनमें 19410 रन 50.67 के औसत से बनाए हैं। फर्स्ट क्लास क्रिकेट में वसीम जाफर ने 57 शतक और 91 अर्धशतक ठोके हैं। फर्स्ट क्लास क्रिकेट में उनका बेस्ट स्कोर नाबाद 314 रन है, जबकि टेस्ट क्रिकेट में उनका हाइएस्ट स्कोर 212 रन था।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *