Home Blog

शिवपाल को मिला इन मुस्लि’म दलों का साथ, अपना द’ल में भी लगाई सेंध

चुना’व को लेकर बातचीत तो हो ही रही है. चाहे बाज़ार हों, गली हो, या चाय की दुकानें..हर जगह चर्चा इसी बात की है कि आने वाले दिनों में किसकी बात चलेगी और कौन हो जाएगा फेल. पार्टियाँ भी अपने अपने स्तर पर कोशिशें कर रही हैं. बड़ी पार्टियां और छोटी पार्टियाँ सभी इस कोशिश में हैं कि लोगों के पास पहुँचा जाए. लोगों के मन में भी अलग-अलग विचार आ रहे हैं.

भाज’पा के प्रदेश उपाध्यक्ष ने छोड़ी पा’र्टी, कां’ग्रेस को भी लगा बड़ा झ’टका

नई दिल्ली: सिया’सत बड़ी गहरी चीज़ है. इसमें कौन कितने पानी में है ये तब पता चलता है जब चु’नाव आते हैं. कुछ रोज़ पहले तक जो ने’ता एक पक्ष में होते हैं चु’नाव के आते आते पक्ष बदल लेते हैं. जितनी जल्दी दिन भी न ढले उतनी जल्दी ने’ता अपने पाले बदल लेते हैं. ये कुछ असरदार कहानी है सियासत की. अब जबकि लोकसभा चु’नाव की चर्चा चल रही है और देश मे इस समय चु’नावी सरगरमिया चरम पर हैं।

अखिलेश ने भी मुलाय’म के बया’न पर किया कटाक्ष, ब’ड़े प्रोग्राम में कह दी ब’ड़ी बात..

नई दिल्ली :रा’जनी’ति के धुरंधर खिलाड़ी जानते हैं कि कब कहाँ क्या कहना है. उत्तर प्रदेश में राज’नीति के बड़े-बड़े खिलाड़ी मौजूद हैं. पा’र्टी चाहे जो हो लेकिन उत्तर प्रदेश एक ऐसा राज्य है जहाँ ने’ता अपने बयान बहुत सोच समझ कर देते हैं और उनके हर एक बयान का कुछ न कुछ मतलब होता है. कुछ इसी तरह सपा के वरिष्ठ ने’ता मुलायम सिंह मशहूर थे और वो अपने बयानों के लिए जाने जाते थे लेकिन अब उनके बेटे अखिलेश यादव ने भी ये हुनर बहुत अच्छे से सीख लिया है.

विरोधि’यों को चौंका’ते हुए प्रियंका गां’धी ने बतायी अपनी रणनी’ति

उत्तर प्रदेश: जब भी चुनाव होते हैं तो कई ने’ता अपना प्रभाव छोड़ते हैं. अक्सर पुराने ने’ताओं का बोलबाला रहता है लेकिन जब कोई मंझा हुआ खिलाड़ी इस फ़ील्ड में उतरता है तो उसकी बहुत चर्चा होती है. कुछ ऐसा ही कहा जा रहा है कि प्रियंका गां’धी के बारे में. प्रियंका के कांग्रेस में आ जाने से परी बहुत उत्साहित नज़र आ रही है. उत्तर प्रदेश में अपनी खोयी ज़मीन की वापिस तलाश करती कांग्रेस को अब उम्मीद है कि कुछ बेहतर होगा.

मो’दी और भा’जपा पर प्रियं’का गां’धी ने किया हम’ला-‘उनकी मर्ज़ी अपने नाम के आगे क्या लगाएँ’

उत्तर प्रदेश: चु’नावी एक ऐसी चीज़ है कि हर दल चाहता है कि उसकी जीत हो. आख़िर कोई हार चाहे भी क्यूँ, अब जीतना है तो जीतने के लिए प्रचार-प्रसार भी ज़रूरी है. इसको लेकर सब अपने अपने क़िस्म से प्रचार कर रहे हैं लेकिन भाजपा ने इस बार जो तरीक़ा निकाला है वो काफ़ी चर्चा में आ रहा है. कुछ लोग इस तरीक़े के पक्ष में हैं तो कुछ इसका मज़ाक़ भी उड़ा रहे हैं. परन्तु इसको लेकर बात ये है कि ये सोशल मीडिया पर शुरू हुआ है और ज़मीन पर इसकी कितनी पहुँच है ये कहना मुश्किल है.

अखिलेश यादव की तारीफ़ में भाज’पा ने’ता ने किया ये ट्वीट, CM योगी से नाराज़..

उत्तर प्रदेश: आज के सूचना क्रांति के युग मे कोई ख़’बर छिप नहीं पाती है। और अगर ख़बर सौशल मीडिया पर आ जाये तो ज़रा देर मे वायर’ल हो जाती है। इसी कड़ी में उत्तर प्रदेश के मुख्य”मंत्री योगी अदित्या’नाथ और पूर्व मुख्य’मंत्री अखि’लेश यादव की अलग अलग तस्वीरेँ , बी’जेपी के ने’ता आईपी सिंह के साथ वायर’ल हो रही है।दोनो तस्वी’रों की तुलना भी की जा रही है।

मेहुल चौकसी ने की PM नरेंद्र मोदी पर पीएचडी, इस तरह हुई..

0

सूरत : कुछ घटनाएं दिलो दिमाग पर ऐसे छा जाती हैं कि उनके ख्याल आते ही कुछ नाम खुद ब ख़ुद ज़बान पर आ जाते है ।ऐसा ही एक मामला पंजाब नेशनल बैंक के घोटा’ले का है। 1400 करोड़ के इस घो’टाले के साथ दो नाम एक साथ सामने आ जाते हैं।एक हैं नीरव मोदी और दूसरे मेहुल चौकसी।इन दोनों पर ही घो’टालों का आरोप है और दोनों ही देश से बाहर हैं। लेकिन आज हम आप को बताने जा रहे हैं एक और मेहुल चौकसी के बारे मे, जो एक अच्छे कारण से चर्चा मे हैं।

भा’जपा ने शाहन’वाज़ हु’सैन को नहीं दिया टिक’ट, गिरिरा’ज सिंह को भी झट’का

चु. एक ऐसी चीज़ है कि बहुत से ने’ता इसमें चमक जाते हैं तो बहुत से कहीं खो जाते हैं. लम्बे समय से बड़ी रा’जनीति करने वाले किसी न किसी चुना’व में खो भी जाते हैं. कुछ इसी तरह का भय इस बार भी कुछ ने’ताओं को हो चला है. बिहार की बात करें तो बिहार में गठबंधन सियासत ने पूरा ज़ोर पकड़ा हुआ है. गठबंधन सियासत का सबसे बड़ा नुक़सान ये है कि आप हर सी’ट पर अपना प्रत्याशी नहीं उतार सकते क्यूंकि आप जिस पार्टी से भी गठबंधन करते हैं उसके लिए सी’टें छोडनी पड़ती हैं.

पर्रिक’र की मौ’त के बा’द मुश्कि’ल में भा.जपा, कांग्रे’स का ये ने’ता गो.वा C’M रेस में

गोवा के मु’ख्यमं’त्री मनोहर पर्री’कर के गुज़र जाने के बाद जहाँ एक तरफ़ राज्य में शोक का माहौल है और देश में भी एक दिन का राष्ट्रीय शोक घोषित हुआ है वहीँ गोवा में नया मु’ख्यमंत्री कौन हो इसको लेकर मीटिंग्स का दौर चलने लगा है. भा’जपा के लिए मुश्किल ये है कि उसके सहयोगी मनोहर पर्री’कर के अलावा किसी और के नाम पर सहमत नहीं थे और अब जबकि वो इस दुनिया में नहीं हैं तो भा’जपा उन्हें कैसे मनाएगी ये देखने की बात होगी. वहीँ दूसरी ओर कां’ग्रेस ने सरकार बनाने का दावा भी पेश कर दिया है.

बिहा’र महा’गठबंध’न में अभी भी स्थिति सा’फ़ नहीं, तारि’क़ अ’नवर की सी’ट को लेक’र हो रहा है हं’गामा

जैसे जैसे चु. का समय नज़दीक आ रहा है वैसे वैसे ही ग’ठबंधन बनने और बिगड़’ने का सिलसिला चल रहा है. लम्बे समय से चले आ रहे गठबं’धन टूट रहे हैं और नए बन रहे हैं. कुछ में बड़ी नाराज’गियां हैं तो कुछ में थोड़ी बहुत लेकिन लोग नारा’ज़ हैं और जहाँ खुश हैं वहाँ कैं’डिडेट की घोष’णा भी कर दी गई है. लो’कस’भा चु’नाव हो तो सबसे अधिक चर्चा तो फिर उत्तर प्रदे’श और बिहा’र की ही होती है क्यूंकि इन दोनों रा’ज्यों में मिला कर 120 सी’टें हैं और इन से देश की सियास’त तय होती है ये माना जाता है.

उत्तर प्रदेश में जहाँ ग’ठबंध’न बनने की लगभग सभी बातें अलग अलग द’लों ने कर ली हैं वहीँ बिहार में स्थिति अभी भी पूरी तरह साफ़ नहीं है. हालाँकि भाजपा-जदयू-लोजेपा की ओर से बात साफ़ है लेकिन महा’गठबं’धन के नाम से जाने जाने वाले कांग्रेस-राजद और अन्य पार्टियों के ग’ठबंध’न में अभी कुछ बातों का साफ़ होना बाकी है.बिहार में महाग’ठबं’धन में कई पार्टियाँ हैं जिनमें सबसे बड़ी पा’र्टी राजद है और उसके बाद कांग्रेस. राजद, कांग्रेस के अलावा रालोसपा, हम जैसी कई छोटी पार्टियाँ भी हैं और इसी के साथ एक और पा’र्टी इस महागठबं’धन में है वो है एनसीपी.